एनएलसी इंडिया लिमिटेड कोयला उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रयासरत, 4 मिलियन टन से बढ़ाकर अगले वर्ष से 20 मिलियन टन प्रतिवर्ष करने का प्रयास

एक नवरत्न सार्वजनिक उपक्रम- एनएलसी इंडिया लिमिटेड की 20 एमटीपीए तालाबीरा II और III खुली खदान, ओडिशा ने अपने संचालन के पहले पूर्ण वर्ष के दौरान अब तक 2 मिलियन टन से अधिक कोयले का उत्पादन कर लिया है।

एनएलसीआईएल ने चालू वर्ष के दौरान 4 एमटी के अपने मूल कार्यक्रम से 6 एमटी प्रतिवर्ष के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कदम उठाए हैं और कोयले की अधिक मांग को ध्‍यान में रखते हुए, एनएलसीआईएल तालाबीरा खदान के कोयला उत्पादन को चालू वर्ष में 10 एमटी तक और अगले वर्ष से 20 एमटी तक बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।

उत्पादित कोयले को एनएलसीआईएल की सहायक कंपनी तूतीकोरिन में एनएलसी तमिलनाडु पावर लिमिटेड के 2 x 500 मेगावाट के अंतत: इस्‍तेमाल वाले संयंत्रों में से एक में ले जाया जा रहा है। संपूर्ण उत्पादित बिजली दक्षिणी राज्यों की आवश्यकता को पूरा कर रही है, जिसमें तमिलनाडु को बड़ा हिस्सा (40 प्रतिशत से अधिक) है।

कोयला मंत्रालय द्वारा खनिज रियायत नियमों पर खान और खनिज (विकास और नियमन) अधिनियम में हाल में किए गए संशोधन ने खदान को अंतत: इस्‍तेमाल वाले संयंत्र की कोयले की आवश्यकता को पूरा करने के बाद अतिरिक्त कोयले की बिक्री के लिए सक्षम किया है। तदनुसार, अतिरिक्त कोयले को बेचने के लिए कोयला मंत्रालय से अनुमति मांगी गई है।

Related Posts