अमेरिका ने चीन में मानवाधिकारों के उल्‍लंघन पर इसकी आलोचना की

अमरीका ने चीन में मानवाधिकारों के उल्‍लंघन पर उसकी आलोचना की है। अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्‍पियो ने वाशिंगटन में संवाददाताओं से कहा कि उनके मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में चीन, ईरान, दक्षिण सूडान और निकारागुआ में मानवाधिकारों के उल्‍लंघन की घटनाओं का विशेष उल्‍लेख किया गया है। उन्‍होंने कहा कि इस मामले में चीन की स्थिति सबसे खराब है क्‍योंकि वहां मुस्लिम अल्‍पसंख्‍यकों पर 1930 के दशक के बाद से भयानक ज्‍यादतियां देखने में आई हैं।

मानवाधिकारों के उल्‍लंघन के मामले में चीन अपने ही मन की करता है। 2018 में चीन ने रिकार्ड स्‍तर पर मुस्लिम अल्‍पसंख्‍यकों को नजरबंद करने का अपना अभियान तेज कर दिया। चीन सरकार ईसाईयों, तिब्‍बती लोगों और भिन्‍न विचार रखने वालों या सरकार में बदलाव लाने की दलील देने वालों के खिलाफ भी मुकदमें चलाने की कार्रवाई बढ़ृाती जा रही है।

चीन के विदेश मंत्रालय ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा है कि अमरीकी विदेश मंत्रालय की रिपोर्ट पूर्वाग्रह पर आधारित है और इसमें बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं। मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि बेहतर यह होगा कि अमरीका अपने यहां मानवाधिकारों की स्थिति पर ध्‍यान दे।

Related posts

Leave a Comment