अंत्‍योदय दिवस: पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय का जन्‍मदिन आज

वर्ष 2014 में पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय के जन्‍मदिन 25 सितम्‍बर को अंत्‍योदय दिवस घोषित किया गया था। इसी दिन ग्रामीण विकास मंत्रालय ने 2014 में इसे आजीविका स्किल्स नामक कौशल विकास कार्यक्रम को दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना – डी.डी.यू.-जी.के.वाई. के रूप में फिर से विकसित किया, जिसके माध्यम से अधिक पहुंच, कवरेज और गुणवत्ता पर जोर दिया गया। ग्रामीण विकास मंत्रालय ने ऐसा करके अपना 15 वर्ष का अनुभव कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों को लागू करने में उपयोग किया। डी.डी.यू.-जी.के.वाई. अब एक मांग पर आधारित प्लेसमेंट-लिंक्ड स्किलिंग कार्यक्रम है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब युवाओं को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के रोज़गार अवसरों का लाभ मिलता है।

अंत्योदय मिशन की भावना ‘अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना’ है। ग्रामीण विकास मंत्रालय देश के सभी पात्र ग्रामीण युवाओं तक पहुंच कर इस उद्देश्‍य को साकार करने की दिशा में काम कर रहा है।

मंत्रालय, अंत्योदय की भावना के अनुरूप काम करते हुए और अंत्योदय दिवस 2020 को मनाने के लिए, देशभर के अपने सक्षम और उत्साही लाभार्थियों के साथ यह दिवस मना रहा है। मौजूदा महामारी के दौरान यह मंत्रालय राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों, परियोजना कार्यान्वयन एजेंसियों, नियोक्ताओं और ग्रामीण युवाओं तथा अन्य हितधारकों के साथ दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना दिवस का ऑनलाइन आयोजन कर रहा है।

Related posts

Leave a Comment