कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को छह वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित किया

कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को छह वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पार्टी ने एक आधिकारिक बयान में कहा है कि अनुशासनहीनता और पार्टी के खिलाफ बार-बार बयान देने की शिकायतों को देखते हुए, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रमोद कृष्णम को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित करने के उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। आध्यात्मिक गुरु कृष्णम ने कांग्रेस के टिकट पर लखनऊ से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन पराजित हो गए थे।

प्रमोद कृष्णम हाल में सार्वजनिक तौर पर कांग्रेस के खिलाफ टिप्पणी के लिए चर्चा में रहे हैं। उन्होंने 22 जनवरी को अयोध्या में श्री रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में शामिल न होने सहित कांग्रेस के कुछ अन्य फैसलों की आलोचना की थी। इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होने के पार्टी के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा था कि भगवान राम के बिना देश की कल्पना नहीं की जा सकती।