भारत और चीन के बीच दूसरे चरण की वार्ता में LAC से सेनाओं के हटने के मुद्दे पर कोर कमांडर स्‍तर की बातचीत आज पूर्वी लद्दाख के चुशूल में

भारत और चीन सेनाओं के बीच कोर कमाण्‍डर स्‍तर की चौथी वार्ता आज पूर्वी लद्दाख में चुशूल में आयोजित की जाएगी। तीसरी बैठक चुशूल में ही 30 जून को हुई थी। सेना के सूत्रों के अनुसार दूसरे चरण की वार्ता के दौरान वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच सैन्‍य टकराव समाप्‍त करने के बारे में आज मुख्‍य रूप से चर्चा होगी।

राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और चीन की विदेश मंत्री वांग यी के बीच बातचीत के बाद सेना के कमाण्‍डरों के बीच आज की बैठक महत्‍वपूर्ण है। पिछली बैठक में वे इस बात पर सहमत हुए हैं कि दोनों पक्षों को इस क्षेत्र में तनाव को कम करने के लिए एलएसी के साथ चल रही विघटन प्रक्रिया को पूरा करना चाहिए। पीएलए पहले ही समझौते के अनुसार गलवन घाटी और गोगरा और हॉट स्प्रिंग्‍स जैसे घर्षण बिंदुओं में दो किलोमीटर तक पीछे हट गया। इसी तरह भारतीय सेना भी पिछली वाहिनी कमाण्‍डर्स स्‍तरीय वार्ता के दौरान अपनी सहमति के अनुसार वापस आ गया है। हालांकि सेना के सूत्रों ने कहा कि आज की वार्ता मुख्‍य रूप से पैंगोंग त्‍सो के फिंगर फोर पर और डेपसांग मैदानों पर केन्द्रित है। भारतीय प्रतिनिधिमण्‍डल के नेतृत्‍व फायर एंड फ्यूरी जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और चीन का नेतृत्‍व दक्षिण शिन्जियांग सैन्‍य प्रान्‍त के कमाण्‍डर मेजर जनरल लियु लिन करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *