कोरोना वायरस लॉकडाउन: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मदद के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का

सरकार ने कोविड-19 से प्रभावित प्रवासी मजदूरों और गरीबों के लिए एक लाख 70 हजार करोड़ रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। नई दिल्‍ली में आज संवाददाता को संबोधित करते हुए वित्‍त मंत्री सीतारामन ने बताया कि कोरोना के मुकाबले में लगे विभिन्‍न वर्ग के लोगों के लिए तीन महीने के लिए 50 लाख रूपये का बीमा भी कराया जाएगा। इनमें चिकित्‍सक, पैरा मेडीकर्मी, स्‍वास्‍थ्यकर्मी, सफाई कर्मचारी और आशा कार्यकर्ता शामिल है।

वित्‍तमंत्री ने बताया कि 80 करोड़ लोगों को अगले तीन महीने तक पांच किलो चावल या गेंहू मुफ्त उपलब्‍ध कराया जाएगा। यह इस समय दिए जा रहे 5 किलो राशन के अलावा होगा। इसके अतिरिक्‍त, प्रत्‍येक परिवार को एक किलो दाल भी मुफ्त दी जाएगी।

वित्‍त मंत्री ने ये भी बताया कि मौजूदा प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत आठ करोड़ 70 लाख किसानों और अन्‍य लोगों को अप्रैल के पहले सप्‍ताह तक उनके खाते में 2 हजार रूपये जमा कर दिए जाएंगे। इससे बड़ी संख्‍या में गरीबी पेंशन पाने वाले लोग लाभान्वित होंगे जिनमें गरीब विधवाएं, दिव्‍यांगजन, स्‍व-सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं और उज्‍ज्‍वला योजना का लाभ ले रही महिलाएं भी शामिल हैं। वित्‍त मंत्री ने मनरेगा श्रमिकों की मजदूरी में भी वृद्धि की घोषणा की जिससे 5 करोड़ परिवारों को फायदा मिलेगा।

वरिष्‍ठ नागरिकों, विधवाओं और दिव्‍यांगजनों को अगले तीन महीनों के दौरान एक – एक हजार रूपये की दो किस्‍तों में तदर्थ अनुदान दिया जाएगा। इससे करीब तीन करोड़ गरीब वरिष्‍ठ नागरिकों, विधवाओं और दिव्‍यांगजनों को लाभ पहुंचेगा।

Related posts

Leave a Reply