सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट ने 1.50 लाख करोड़ रुपये की गारंटी राशि पार करने की एक बड़ी उपलब्धि हासिल की

चालू वित्तीय वर्ष 2023-24 के दौरान, सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (सीजीटीएमएसई) ने 2022-23 में 50 प्रतिशत की तीव्र वृद्धि के साथ 1.04 लाख करोड़ रुपए के मुकाबले 1.50 लाख करोड़ रुपये की गारंटी राशि को पार करके एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। यह उपलब्धि सूक्ष्म और लघु उद्यमों (एमएसई) को बिना किसी गिरवी के ऋण देने की सुविधा के लिए सिडबी, एमएसएमई मंत्रालय और सीजीटीएमएसई द्वारा की गई विभिन्न रणनीतिक पहलों का परिणाम है।

सीजीटीएमएसई की स्थापना वर्ष 2000 में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) और सिडबी ने सदस्य ऋण संस्थानों को एमएसई को स्वीकृत क्रेडिट सुविधाओं के लिए खासकर बिना किसी गिरवी के क्रेडिट गारंटी सहायता प्रदान करने के लिए की थी।

ऋणदाताओं द्वारा गारंटी प्रणाली को व्यापक रूप से अपनाना सीजीटीएमएसई द्वारा उठाए गए कई कदमों जैसे गारंटी शुल्क में कमी, गारंटी के लिए ऋण की पात्रता सीमा बढ़ाना, दावा निपटान के लिए पूर्व शर्त में ढील देना, शुरू से अंत तक संचालन के डिजिटलीकरण से ऋणदाताओं द्वारा “व्यवसाय करने में आसानी” आदि के कारण हुआ है। क्रेडिट वृद्धि उपकरण के रूप में गारंटी का लगातार बढ़ता उपयोग बिना किसी गिरवी के ऋण को बढ़ावा देते हुए देश में उद्यमिता के भविष्य के लिए आशावाद पैदा करता है।