दिल्‍ली की एक अदालत ने निर्भया मामले में चारों दोषियों को तीन मार्च को फांसी देने का नया आदेश जारी किया

दिल्‍ली की एक अदालत ने निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍या मामले में आज चारों दोषियों को तीन मार्च की सुबह छह बजे फांसी देने के लिए नया फरमान जारी कर दिया है। अतिरिक्‍त सत्र न्‍यायाधीश धर्मेन्‍द्र राणा ने मौत की सज़ा प्राप्‍त दोषियों मुकेश सिंह, पवन गुप्‍ता, विनय शर्मा और अक्षय कुमार के खिलाफ मौत का नया फरमान जारी किया।

अदालत ने इस संबंध में निर्भया के माता-पिता और दिल्‍ली सरकार के इस आशय के आवेदन की सुनवाई करते हुए यह फरमान जारी किया। इससे पहले उच्‍चतम न्‍यायालय ने दोषियों की फांसी की सज़ा पर अमल करने के लिए अधिकारियों को सत्र न्‍यायालय से संपर्क करने की छूट दे दी थी।

चारों दोषियों को पहले 22 जनवरी को फांसी पर लटकाया जाना था, लेकिन पिछले महीने की 17 तारीख को अदालत के आदेश पर इसे पहली फरवरी तक के लिए टाल दिया गया। बाद में 31 जनवरी को सत्र न्‍यायालय ने मौत की सज़ा के अमल पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी थी।

पिछले सप्‍ताह उच्‍चतम न्‍यायालय ने मामले के एक दोषी विनय शर्मा की वह याचिका खारिज कर दी थी, जिसमें उसने राष्‍ट्रपति द्वारा अपनी दया याचिका को अस्‍वीकार किए जाने को चुनौती दी थी। चारों दोषी इस समय दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं।

इन दोषियों ने 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा निर्भया के साथ 16 दिसम्‍बर 2012 को चलती बस में सामूहिक दुष्‍कर्म और हैवानियत की घटना को अंजाम दिया। 13 दिन तक मौत से लड़ते हुए निर्भया ने दम तोड़ दिया था।

Related posts

Leave a Reply