दिल्‍ली के चुनाव परिणाम नागरिकता संशोधन कानून के बारे में जनादेश नहीं: गृहमंत्री अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि दिल्ली चुनाव परिणाम नागरिकता संशोधन कानून-सीएए और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर-एनआरसी पर जनादेश नहीं है। एक निजी समाचार चैनल द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेते हुए अमित शाह ने कहा कि चुनाव प्रचार अभियान के दौरान विवादास्पद बयानबाज़ी नहीं की जानी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि भाजपा केवल परिणामों के लिए चुनाव नहीं लड़ती है। पार्टी का उद्देश्य अपने एजेंडे को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना है। अमित शाह ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली के लोगों द्वारा दिए गए जनादेश को स्वीकार किया है।

गृहमंत्री ने कहा कि सीएए में मुसलमानों की नागरिकता को छीनने का प्रावधान नहीं है। उन्होंने कहा कि सीएए के प्रावधानों पर बहस होनी चाहिए और विपक्ष इसके लिए तैयार नहीं है। अमित शाह ने कहा कि सरकार ने धर्म के आधार पर कभी किसी के साथ भेद-भाव नहीं किया। उन्होंने कहा कि 70 वर्षों के दौरान कई महत्‍वपूर्ण मुद्दों को अनदेखा किया गया जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में संसद में कई ऐतिहासिक कानून पारित किए गए।

अमित शाह ने कहा कि शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन लोकतांत्रिक नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी को शांतिपूर्ण विरोध करने का अधिकार है लेकिन हिंसा उचित नहीं है तथा हुड़दंग जैसी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *