DFS ने साइबर सुरक्षा उपायों की तैयारी और वित्तीय सेवा क्षेत्र में तत्परता पर संगोष्ठी आयोजित की

वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग (डीएफएस) ने आज यहां ‘वित्तीय सेवा साइबर सुरक्षा (फिनएससीवाई)’ शीर्षक से साइबर सुरक्षा पर आधे दिन की संगोष्ठी का आयोजन किया। डीएफएस के सचिव डॉ. विवेक जोशी ने इस संगोष्ठी का उद्घाटन किया।

इस संगोष्ठी से सरकारी एजेंसियों एवं विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों और वित्तीय सेवा क्षेत्र के नियामकों के साथ-साथ बैंकों, बीमा कंपनियों और वित्तीय संस्थानों के वरिष्ठ अधिकारियों और सीआईएसओ को वित्तीय सेवा क्षेत्र में वर्तमान में लागू साइबर सुरक्षा उपायों, भविष्य के साइबर खतरों से निपटने के लिए इस क्षेत्र की तत्परता और इसके साथ ही डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक के संशोधित मसौदे के दृष्टिकोण पर भी अपने-अपने विचारों, तौर-तरीकों और चिंताओं को साझा करने का अवसर प्राप्‍त हुआ।

इस संगोष्ठी में वित्तीय सेवा विभाग, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई), गृह मंत्रालय, सरकारी एजेंसियों जैसे कि सीईआरटी-इन, एनसीआईआईपीसी, भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र; वित्‍तीय सेवा क्षेत्र के नियामकों अर्थात आरबीआई, आईआरडीएआई और पीएफआरडीए; सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों एवं बीमा कंपनियों, निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंकों एवं बीमा कंपनियों, और प्रमुख वित्तीय संस्थानों जैसे कि नाबार्ड, सिडबी, एक्जि‍म बैंक और राष्ट्रीय आवास बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।