हरियाणा में ड्रोन से होगा टिड्डी नाशक दवा का छिड़काव

ड्रोन-एस-ए-सर्विस (डीएएएस) प्रदाता गरुड़ एयरोस्पेस ने हरियाणा सरकार से राज्य में टिड्डी नाशक दवा के छिड़काव के लिए ठेका हासिल किया है। इसकी जानकारी कंपनी के शीर्ष अधिकारी ने दी।

चेन्नई स्थित गरुड़ एयरोस्पेस के प्रबंधक निदेशक अग्निश्वर प्रकाश ने बताया, “हरियाणा सरकार ने हमें टिड्डियों को भगाने के लिए दो ड्रोनों को तैनात करने के लिए कहा है। टिड्डियों द्वारा सिरसा, भिवानी, रेवाड़ी, चरखी दादरी और हरियाणा के अन्य स्थानों पर हमले हो रहा हैं।”

जयप्रकाश ने कहा कि यह आदेश कृषि और किसान कल्याण विभाग, हरियाणा सरकार का है और आवश्यकता के आधार पर अतिरिक्त ड्रोन का अनुरोध किया जा सकता है। निदेशक ने बताया कि उत्तर प्रदेश और राजस्थान के बाद हरियाणा तीसरा राज्य है जिसने ड्रोन-आधारित एंटी-टिड्डियों के संचालन के लिए गरुड़ एयरोस्पेस को कांट्रेक्ट दिया।

जयप्रकाश ने कहा कि हाल ही में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने हरियाणा सरकार को एंटी-लोक्टस ऑपरेशन के लिए रिमोटली पायलट सिस्टम के इस्तेमाल की सशर्त छूट दी थी। उन्होंने कहा कि कीटनाशक छिड़कने के दो तरीके हैं -पहला टिड्डियों के झुंड पर ऊपर से कीटनाशक का छिड़काव करके और दूसरा उस जगह जहां टिड्डियों की उतरने की उम्मीद हो, वहां पहले से छिड़काव करके।

जयप्रकाश ने कहा कि राजस्थान सरकार ने एक नया टेंडर निकाला है और गरुड़ एयरोस्पेस अपनी बोली प्रस्तुत करेगा। गरुड़ एयरोस्पेस कई नगर निगमों और वाराणसी, राउरकेला, रायपुर, चेन्नई और हैदराबाद जैसे स्मार्ट शहरों से ड्रोन-आधारित एंटी-कोरोनवायरस सैनेटाइजेशन का आदेश ले रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *