1 अप्रैल से दस सरकारी बैंकों के विलय के बाद चार बैंक काम करने लगेंगे: RBI

RBI

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि पहली अप्रैल से दस सरकारी बैंकों के विलय के बाद चार बैंक काम करने लगेंगे। विलय होने वाले बैंकों की शाखाएं उस बैंक के रूप में काम करेंगी जिसमें उन्हें मिलाया गया है। सरकार ने चार मार्च को सार्वजनिक क्षेत्र में बड़े और मजबूत बैंक बनाने की सुदृढ़ीकरण योजना के एक भाग के रूप में इन दस सरकारी बैंकों के विलय की अधिसूचना जारी की थी।

इस योजना के अनुसार ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पंजाब नेशनल बैंक में किया जायेगा, सिंडीकेट बैंक को केनरा बैंक में मिलाया जायेगा, इलाहाबाद बैंक को इंडियन बैंक में और आँध्रा तथा कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में मिलाया जायेगा। इसके बाद पहली अप्रैल से ओरिएंटल ऑफ कॉमर्स और यूनाईटेड बैंक की शाखाएं पंजाब नेशनल बैंक की शाखा के तौर पर काम करेगी। सिंडीकेट बैंक की शाखाएं केनरा बैंक की शाखाएं हो जायेंगी। यह बताया गया है कि अगले वित्त वर्ष 2020-21 से इलाहाबाद बैंक की शाखाएं इंडियन बैंक की शाखा के रूप में और आँध्रा बैंक तथा कॉरपोरेशन बैंक, यूनियन बैंक के रूप में काम करेंगी। विलय होने वाले बैंकों के ग्राहक और जमाकर्ता पहली अप्रैल 2020 से उन बैंकों के ग्राहक माने जायेंगे जिनमें इनका विलय किया गया है।

Related posts

Leave a Reply