गुरूवार, अप्रैल 22
Shadow

सरकार ने 1 मार्च से कोविड टीकाकरण में तेजी लाने के लिए दिशानिर्देश जारी किए

सरकार ने पहली मार्च से कोविड टीकाकरण में तेजी लाने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। सोमवार से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के दौरान निजी अस्‍पताल कोविड-19 का टीका लगाने के लिए 250 रुपये तक वसूल सकते हैं। सरकार साठ वर्ष की आयु से ज्‍यादा के लोगों और 45 से 59 वर्ष की आयु के गंभीर बीमा‍री से पीडि़त लोगों को कोविड-19 का टीका लगाने का अभियान सोमवार से शुरू करेगी। राज्‍य कोविड टीकाकारण केंद्रों के लिए आयुष्‍मान भारत के तहत दस हजार अस्‍पताल और सी जी एच एस के तहत छह सौ 87 अस्‍पतालों का उपयोग कर सकेंगे। दस हजार सरकारी अस्‍पतालों में कोविड-19 का टीका मुफ्त लगेगा, जबकि बीस हजार निजी अस्‍पतालों में लगने वाले टीके का भार लोगों को वहन करना होगा।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि राज्‍यों को राज्‍य सरकार स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना के तहत सभी निजी अस्‍पतालों को संबद्ध करने की स्‍वतंत्रता दी गई है। राज्‍य सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं और सभी सरकारी स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं का इस्‍तेमाल टीकाकरण के लिए कर सकते हैं।

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने आज राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के स्‍वास्‍थ्‍य सचिवों और राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के मिशन निदेशकों से वीडियो कांफ्रेंस के जरिये टीकाकरण के संबंध में बातचीत की। बैठक के दौरान राज्‍यों को पंजीकरण के तीन तरीकों के बारे में बताया गया। यह तरीके एडवांस सेल्‍फ रेजिस्‍ट्रेशन, ऑन साइट रेजिस्‍ट्रेशन और फेसिलिटेड कोहार्ट रजिस्‍ट्रेशन है। देश में अभी तक डेढ़ करोड़ से ज्‍यादा लोगों को कोविड-19 का टीका लग चुका है। अभी तक 77 प्रतिशत स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल कार्यकर्ताओं को पहली खुराक और 70 प्रतिशत को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *