कृषि और विनिर्माण क्षेत्र में सुधार से देश का सकल घरेलू उत्पाद इस वित्त वर्ष में 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान

भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की वृद्धि दर 2018-19 में सात दशमलव दो प्रतिशत रहने की संभावना है। पिछले साल यह छह दशमलव सात प्रतिशत थी। कृषि और विनिर्माण क्षेत्र के कामकाज में सुधार से अर्थव्‍यवस्‍था में वृद्धि की संभावना बढ़ी है। 2018-19 की राष्‍ट्रीय आय के अग्रिम आंकड़े जारी करते हुए केन्‍द्रीय सांख्‍यि‍की कार्यालय ने यह जानकारी दी। मौजूदा वित्‍त वर्ष में सकल मूल्‍य संवर्धन के सात प्रतिशत की दर से बढ़ने की संभावना है।

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चन्‍द्र गर्ग ने 2018-19 में सकल घरेलू उत्‍पाद के सात दशमलव दो प्रतिशत रहने की संभावना को सकारात्‍मक बताया है।

अपने ट्वीट संदेश में उन्होंने कहा कि भारत विश्‍व में सबसे तेज रफ्तार से बढ़ने वाली अर्थव्‍यवस्‍था वाला देश बना हुआ है।

Related posts