भारत और चीन ने सैन्य स्तर की वार्ता में LaC पर तेजी से और चरणबद्ध तरीके से तनाव घटाने पर जोर दिया

भारत और चीन ने वास्‍तविक नियंत्रण रेखा- एल ए सी पर प्राथमिकता के आधार पर तेजी के साथ चरणबद्ध तरीके से तनाव घटाने पर जोर दिया है। दोनों पक्ष स्थिति से निपटने के लिए स्‍थापित सैन्‍य और कूटनीतिक माध्‍यमों से विचार-विमर्श कर रहे हैं। चीन की पीपुल्‍स लि‍बरेशन आर्मी- पी.एल.ए. और भारतीय सेना के कमांडरों के बीच कल भारत के चुशुल में बातचीत हुई।

वास्‍तविक नियंत्रण रेखा और सीमावर्ती क्षेत्रों में तनाव घटाने से संबंधित मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए शीर्ष सैन्‍य कमांडरों की यह तीसरी बैठक थी। यह बैठक विदेश मंत्री एस. जयंशकर और चीन के विदेशी मंत्री के बीच 17 जून को हुई बातचीत के अनुरूप आयोजित की गई थी। दोनों नेताओं ने इस पर सहमति जताई थी कि पूरी स्थिति का समाधान जिम्‍मेदारी के साथ किया जायेगा और दोनों देश छह जून को बनी समझ के अनुसार अपनी-अपनी सेनाएं पीछे हटा लेंगे।

हमारे संवाददाता ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि कल हुई बैठक लंबी चली और यह विचार-विमर्श वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव घटाने की दोनों पक्षों की प्रतिबद्धता को परिलक्षित करता है। सूत्रों ने बताया कि द्विपक्षीय समझौतों और सहमतियों के अनुसार एल ए सी पर शांति और सद्भाव को सुनिश्चित करने तथा आपसी समझ से समाधान निकालने के लिए भविष्‍य में दोनों पक्षों के बीच सैन्‍य और कूटनीतिक स्‍तर पर और भी विचार-विमर्श करने की संभावना है।

Related posts

Leave a Comment