इजमिर अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार प्रदर्शनी में भारत है फोकस देश

businessnews

भारतीय व्‍यापार संवर्धन परिषद (टीपीसीआई) की अगुवाई में 75 सदस्‍यों का भारतीय प्रतिनिधिमंडल तुर्की में आयोजित 87वीं इजमिर अंतर्राष्‍ट्रीय प्रदर्शनी में भाग ले रहा है। इस प्रतिनिधिमंडल ने अनेक बी2बी बैठकों में भाग लिया और तुर्की के कारोबारी समुदाय के सदस्‍यों के साथ अनेक व्‍यावसायिक गठबंधन किए। भारत इस व्‍यापार प्रदर्शनी में फोकस देश है और ‘सोर्स इंडिया’ के नाम से इसका स्‍वयं का अपना अकेला मंडप है। भारतीय मंडप दरअसल अनगिनत उत्‍पादों वाला मंडप है जिसमें कंपनियां मिट्टी के बर्तन, अनाज और यांत्रिक उपकरण जैसे अनेक उत्‍पादों को भी प्रदर्शित कर रही हैं।

‘सोर्स इंडिया’ मंडप का उद्घाटन तुर्की में भारत के राजदूत श्री संजय भट्टाचार्य द्वारा किया गया। इस अवसर पर श्री भट्टाचार्य ने भारत और तुर्की के बीच लंबे समय से कायम मजबूत वाणिज्यिक एवं आर्थिक संबंधों का उल्‍लेख किया। वर्ष 2017 में दोनों देशों के बीच 7 अरब डॉलर का द्विपक्षीय व्‍यापार हुआ था जो पिछले वर्ष की तुलना में 8 प्रतिशत अधिक है। उन्‍होंने कहा कि भारत और तुर्की के कृषि एवं खाद्य प्रसंस्‍करण क्षेत्रों के बीच गठबंधन की असीम संभावनाएं हैं। उन्‍होंने कहा कि यह गठबंधन कृषि तकनीक, ज्‍यादा पैदावार वाली किस्‍मों, कृषि मशीनरी, खाद्य प्रसंस्‍करण और शीत भंडारण के क्षेत्रों में हो सकता है।

टीपीसीआई और तुर्की की सुपरमार्केट चेन ‘बीआईएम’ के बीच कारोबारी गठबंधन की रूपरेखा तैयार की गई है। बीआईएम ने तुर्की में 6500 स्‍टोर, मोरक्‍को में 600 और मिस्र में 400 स्‍टोर खोल रखे हैं। बीआईएम भारत में भी अपना एक स्‍टोर खोलने पर विचार कर रही है।

भारत और तुर्की ने मई 2017 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी और तुर्की के राष्‍ट्रपति रिसेप तैयप एर्डोगन के बीच हुई बैठक के दौरान 10 अरब डॉलर के द्विपक्षीय व्‍यापार का लक्ष्‍य तय किया था।

Related posts