दिसंबर 2023 में भारत का औद्योगिक उत्पादन सूचकांक 3.8 प्रतिशत बढ़ा

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का त्वरित अनुमान हर महीने की 12 तारीख (या पिछले कार्य दिवस अगर 12 तारीख को अवकाश है) को जारी किए जाते हैं। यह छह सप्ताह के अंतराल के साथ स्त्रोत एजेंसियों से प्राप्त आंकड़ों को एक साथ संकलित करके जारी किए जाते हैं। स्रोत एजेंसियों को उत्पादक कारखानों/प्रतिष्ठानों से डेटा प्राप्त होता है।

दिसंबर 2023 के महीने के लिए, 2011-12 आधार के साथ औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का त्वरित अनुमान 151.5 है। दिसंबर 2023 महीने के लिए खनन, विनिर्माण और बिजली क्षेत्रों के लिए औद्योगिक उत्पादन के सूचकांक क्रमशः 139.4, 150.6 और 181.6 रहे। इन त्वरित अनुमानों में आईआईपी की संशोधन नीति के अनुसार आगामी रिलीज में संशोधन किया जाएगा।

उपयोग-आधारित वर्गीकरण के अनुसार, दिसंबर 2023 के महीने के लिए प्राथमिक वस्तुओं के लिए सूचकांक 151.7, पूंजीगत वस्तुओं के लिए 103.3, मध्यवर्ती वस्तुओं के लिए 159.3 और बुनियादी ढांचे/निर्माण वस्तुओं के लिए 177.9 पर हैं। इसके अलावा, उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुओं और उपभोक्ता गैर-टिकाऊ वस्तुओं के लिए सूचकांक दिसंबर 2023 के महीने में क्रमशः 114.0 और 178.0 पर रहीं।

राष्ट्रीय औद्योगिक वर्गीकरण (एनआईसी-2008) के क्षेत्रीय, 2-अंकीय स्तर और उपयोग-आधारित वर्गीकरण द्वारा दिसंबर 2023 के महीने के लिए औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के त्वरित अनुमान का विवरण क्रमशः विवरण I, II और III में दिया गया है। इसके अलावा, उपयोगकर्ताओं को औद्योगिक क्षेत्र में बदलावों का मूल्यांकन करने के लिए, स्टेटमेंट IV उद्योग समूहों (एनआईसी-2008 के 2-अंकीय स्तर के अनुसार) और क्षेत्रों द्वारा पिछले 12 महीनों के लिए महीने-वार सूचकांक प्रदान करता है।

दिसंबर 2023 महीने के लिए आईआईपी के त्वरित अनुमानों के साथ, नवंबर 2023 के सूचकांकों में पहला संशोधन किया गया है और सितंबर 2023 के सूचकांकों में स्रोत एजेंसियों से प्राप्त अद्यतन आंकड़ों के आलोक में अंतिम संशोधन किया गया है। दिसंबर 2023 के लिए त्वरित अनुमान, नवंबर 2023 के लिए पहला संशोधन और सितंबर 2023 के लिए अंतिम संशोधन क्रमशः 93 प्रतिशत, 94 प्रतिशत और 95 प्रतिशत की भारित प्रतिक्रिया दरों पर संकलित किया गया है।