लोकसभा चुनाव 2019: सात चरणों में 11 अप्रैल से मतदान, वोटों की गिनती 23 मई को, देशभर में आदर्श आचार संहिता लागू

Lok Sabha Elections 2019 Date

देश में 17वीं लोकसभा के लिए 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में मतदान होगा। आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरूणाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव भी एक साथ कराए जाएंगे। मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने आज नई दिल्‍ली में चुनाव की तारीखों की घोषणा की।

मतदान की तारीखें इस प्रकार हैं। पहला चरण 11 अप्रैल, दूसरा चरण 18 अप्रैल, तीसरा चरण 23 अप्रैल, चौथा चरण 29 अप्रैल, पांचवा चरण 6 मई, छठा चरण 12 मई, सातवां चरण 19 मई और मतगणना 23 मई हो होगी।

चुनाव की घोषणा के साथ ही देश में आदर्श आचार संहिता तत्‍काल प्रभाव से लागू हो गई है। मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने कहा कि कर्नाटक, मणिपुर, राजस्‍थान और त्रिपुरा में दो चरणों में चुनाव होगा। असम और छत्‍तीसगढ़ में तीन चरणों में तथा झारखंड, मध्‍यप्रदेश, महाराष्‍ट्र और ओडिशा में चार चरणों में मतदान कराया जायेगा। जम्‍मू-कश्‍मीर में पांच चरणों में, जबकि पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्‍तर प्रदेश में सात चरणों में वोट डाले जाएंगे।

पहले चरण में 20 राज्‍यों की 91 लोकसभा सीटों के लिए मतदान कराया जाएगा।
जिन 22 राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों में एक चरण में मतदान होना है, उनमें आंध्रप्रदेश, अरूणाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लक्षद्वीप, दिल्‍ली, पुद्दुचेरी, चंडीगढ़ और उत्‍तराखंड शामिल हैं।

मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर में विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ नहीं होंगे। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में लोकसभा चुनाव की सक्षम निगरानी के लिए आयोग ने तीन विशेष पर्यवेक्षक नियुक्‍त करने का फैसला किया है। मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान मीडिया से सकारात्‍मक रिपोर्टिंग करने की अपील की।

नाव आयोग ने सभी राज्‍यों के मुख्‍य निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे मीडिया से सकारात्‍मक और प्रगतिशील संवाद बनाए रखें। आयोग मीडिया से भी निवेदन करता है कि वो स्‍वतंत्र और निष्‍पक्ष चुनाव करवाने के हमारे प्रयासों में सकारात्‍मक और रचनात्‍मक भूमिका निभाएं।

मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए व्‍यापक स्‍तर पर तैयारियां की गई हैं।

इस चुनाव में लगभग 90 करोड़ मतदाता होंगे जिनमें एक करोड़ 50 लाख मतदाता 18 से 19 वर्ष के उम्र के हैं। इस बार के चुनाव में देशभर में दस लाख मतदान केंद्र बनाए जाएंगे और सभी ईवीएम के साथ वीवीपैट का प्रयोग किया जाएगा। शांतिपूर्ण चुनाव संपन्‍न कराने के लिए बड़ी संख्‍या में केंद्रीय पुलिस बलों की तैनाती की जाएगी। चुनाव आयोग ने निष्‍पक्ष चुनाव के लिए सोशल मीडिया पर प्रचार के लिए पूर्व अनुमति की शर्त लगा दी है। इसके अलावा चुनाव की अवधि में लाउडस्‍पीकर का प्रयोग रात दस बजे से सुबह 6 बजे तक प्रतिबंधित रहेगा।

Related posts