स्वास्थ्य और जैव चिकित्सा विज्ञान में सहयोग के लिए भारत और अमेरिका के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने आज भारत की मेज़बाने में आयोजित चौथे भारत-अमेरिका स्वास्थ्य संवाद के समापन सत्र को संबोधित किया। दो दिवसीय संवाद दोनों देशों के बीच स्वास्थ्य क्षेत्र में चल रहे कई सहयोगों पर विचार-विमर्श करने के लिए एक मंच के रूप में लाभान्वित हुआ। दो दिवसीय संवाद के दौरान महामारी विज्ञान अनुसंधान और निगरानी, ​​वैक्सीन विकास, स्वास्थ्य, जूनोटिक और वेक्टर जनित रोगों, स्वास्थ्य प्रणालियों और स्वास्थ्य नीतियों आदि को मजबूत करने से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गई।

समापन सत्र में आज दो समझौता ज्ञापनों पर भी हस्ताक्षर किए गए। स्वास्थ्य और जैव चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में सहयोग के संबंध में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और संयुक्त राज्य अमेरिका के स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। अनुसंधान के लिए अंतर्राष्ट्रीय केंद्र (आईसीईआर) के बारे में सहयोग के लिए भारतीय आयुर्विग्यान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज (एनआईएआईडी) के बीच एक और समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

Related Posts