ब्रिक्‍स सदस्‍य देशों के बीच आपसी सहयोग कोविड के बाद की वैश्विक स्थिति में महत्‍वपूर्ण योगदान दे सकता है: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि ब्रिक्‍स सदस्‍य देशो के बीच आपसी सहयोग कोविड के बाद की वैश्विक स्थिति में महत्‍वपूर्ण योगदान दे सकता है। उन्‍होंने कहा कि कोविड महामारी का दुष्‍प्रभाव कम हो गया है लेकिन वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था पर इसका असर अभी भी बना हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज वर्चुअल रूप से आयोजित 14वें ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन को सम्‍बोधित कर रहे थे। चीन के राष्‍ट्रपति शी जिन पिंग, दक्षिण अफ्रीका के राष्‍ट्रपति सिरिल रामपोसा, ब्राजील के राष्‍ट्रपति जेर बोलसोनारो और रूसी राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन भी सम्‍मेलन में हिस्‍सा ले रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना की चुनौतियां कम नहीं हुई है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में ब्रिक्‍स में कई संरचनागत परिवर्तन हुए हैं, जिनसे इससे प्रभावकारिता बढ गई है। उन्‍होंने कहा कि अनेक क्षेत्रों में सहयोग से सदस्‍य देशों के नागरिकों को लाभ पहुंचा है। उन्‍होंने कहा कि टीका अनुसंधान और विकास केंद्र की स्‍थापना तथा सीमा शुल्‍क विभागों के बीच समन्‍वय से ब्रिक्‍स को बेजोड अंतर्राष्‍ट्रीय संगठन बनाने में मदद मिली है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिक्‍स न्‍यू डेवलपमेंट बैंक की सदस्‍यता बढने पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की। प्रधानमंत्री ने कहा कि ब्रिक्‍स सदस्‍य देशों ने जनता के बीच संपर्क सुदृढ किया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.