राष्ट्र आज मना रहा है 70वां गणतंत्र दिवस

Nation is celebrating the 70th Republic Day

राष्ट्र आज 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। मुख्य समारोह राजधानी दिल्ली के राजपथ पर हो रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ध्वजारोहण के बाद परेड की सलामी लेंगे। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर झांकियों का मुख्य विषय गांधी रहेगा। परेड में 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा छह केंद्रीय मंत्रालयों की झांकियां निकाली जाएंगी।

मंत्रालयों और विभागों की झांकियों में स्वच्छ भारत अभियान, सौभाग्य योजना और किसान गांधी जैसे विषयों पर झांकियां शामिल हैं। गुजरात की झांकी में ऐतिहासिक दांडी मार्च की झलक पेश की जाएगी, जिसका नेतृत्व बापू ने किया था। उत्तर प्रदेश की झांकी में गांधी जी की बनारस और काशी विद्यापीठ की ऐतिहासिक यात्राओं को प्रदर्शित किया जाएगा। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान अंडमान जेल में बंद कैदियों पर, महात्मा गांधी का क्या असर पड़ा, इसकी झलक अंडमान-निकोबार द्वीप समूह की झांकी में देखने को मिलेगी। कर्नाटक की झांकी में बेलागावी में 1924 में आयोजित भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उनतालिसवें अधिवेशन को प्रदर्शित किया जाएगा। जबकि दिल्ली की झांकी में दिल्ली और गांधी स्मृति के नाम से प्रसिद्ध बिड़ला हाउस के साथ गांधी जी के लम्बे संबंधों की झलक पेश की जाएगी।

इस वर्ष पहली बार असम रायफल्स का महिला दस्ता मेजर खुशबू कंवर के नेतृत्व में मार्च पास्ट करेगा। परेड की कमान दिल्ली क्षेत्र मुख्यालय के जनरल ऑफिसर कमांडिंग, लेफ्टिनेंट जनरल असित मिस्त्री के पास होगी। परेड में इनके बाद सर्वोच्च शौर्य पुरस्कार विजेता होंगे। इनमें परमवीर चक्र और अशोक चक्र विजेता शामिल हैं। अंग्रेजी सैनिकों का वीरता से मुकाबला करने वाले आईएनए के वरिष्ठ सैनिक भी परेड में इस वर्ष भाग ले रहे हें।

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार के विजेता 26 बच्चे परेड की शोभा बढ़ायेंगे, इनमें छह लड़कियां और 20 लड़के हैं। हमारे संवाददाता ने बताया है कि परेड में 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा छह केंद्रीय मंत्रालयों की झांकियां निकाली जाएंगी।

भारतीय सेना का प्रमुख लड़ाकू टैंक, टी-90 भीष्म, पैदल सेना का लड़ाकू वाहन बालवे मशीन पिकाते, के-9 वज्र-टी, एम 777 ए टू अल्ट्रालाइट होवित्जर, आकाश शस्त्र प्रणाली मशीनी दस्तों में मुख्य आकर्षण होंगे। फ्लाईपास्ट में सबसे आगे अति उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर वीपन सिस्टम इंटीग्रेटेड रुद्र और सैनिक विमानन के दो अति उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर ध्रुव रहेंगे।

Related posts