ओलंपिक खेल टोक्यो 2020 का उद्घाटन समारोह सादगी के साथ आयोजित करने के लिए तैयार

दुनियाभर के खेल प्रेमी बड़ी उत्‍सुक्‍ता से कल से शुरू होने वाले ओलिम्पिक खेलों की प्रतीक्षा कर रहे है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि जब ओलिम्पिक खेलों को रद्द नहीं किया गया बल्कि स्‍थगित किया गया। ओलिम्पिक खेलों का आयोजन पिछले वर्ष होना था। सुनते है कल से शुरू होने खेलों के इस महाकुंभ पर एक रिपोर्ट-

ओलिम्पिक खेलों का उद्घाटन कल जापान की राजधानी तोक्‍यो में पारम्‍परिक और औपचारिक रूप से किया जायेगा। भारतीय समय के अनुसार यह उद्घाटन समारोह शाम 4 बजकर 30 मिनट से शुरू होगा। इस बार ओलिम्पिक का शुभांकर है- मेरातोयवा। जापानी राजधानी तोक्‍यो में नव-निर्मित नेशनल स्टेडियम में आयोजित होने वाले इस उद्घाटन समारोह का आयोजन कोविड महामारी के कारण साधारण तरीके से किया जायेगा। उद्घाटन समारोह में किसी भी तरह की भव्यता नहीं होगी। इस समारोह में जापान के सौन्‍दर्य शास्‍त्र को दर्शाया जायेगा। 150 करोड़ की लागत से बने इस स्‍टेडियम में तोक्‍यो ओलिम्पिक के दौरान 68 हजार दर्शकों के बैठने की व्‍यवस्‍था है। हालांकि कोविड के चलते यह समारोह और कई खेल स्‍पर्धाएं बिना दर्शकों के आयोजित की जायेंगी, क्‍योंकि जापान में कोरोना के कारण आपातकाल लगा दिया गया है। फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और अमरीका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन की पत्‍नी जिल बाइडन सहित 15 देशों के कई नेता और अंतर्राष्‍ट्रीय संगठन इस समारोह को देखेंगे। तोक्‍यो ओलिम्पिक में 33 खेल स्‍पर्धाएं आयोजित की जायेंगी, जिसमें 206 देशों के 11 हजार खिलाड़ी भाग लेंगे। खेलों के इस महाकुंभ में भारत के 120 से भी ज्‍यादा खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। भारत की ओर से महिला मुक्‍केबाज मेरीकाम और हॉकी टीम के कप्‍तान मनप्रीत सिंह उद्घाटन समारोह में भारत के ध्‍वजवाहक होंगे। इस बार तीन नई खेल स्‍पर्धाओं को भी शामिल किया गया है। कोविड के बढ़ते मामलों के कारण अंतर्राष्‍ट्रीय ओलिम्पिक समिति ने कई दिशा-निर्देश जारी किये हैं, जिसमें अगर कोई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उसे बाहर करने की बजाय उसे डीएनएस यानी डिड नॉट स्‍टार्ट का दर्जा दिया जायेगा। ओलिम्पिक के दौरान दिये जाने वाले पदक जापान के रिसाईकल्‍ड इलैक्‍ट्रॉनिक उत्‍पादों से बने हैं। ये पदक खिलाड़ियों के उत्‍साह और विविधता को प्रदर्शित करेंगे। इन पदकों का डिजाइन भी जापान की संस्‍कृति को दर्शाता है। इस बार के ओलिम्पिक और पेरा ओलिम्पिक खेलों का विषय है- यूनाईटिड बाय इमोशन यानी भावनाओं से एकजुट होना। ओलिम्पिक खेलों का समापन समारोह आठ अगस्‍त को इसी स्‍टेडियम से होगा।

Related Posts