मध्य प्रदेश और मिज़ोरम में मतदान के लिये सिर्फ चार दिन शेष, चुनाव प्रचार चरम पर

मध्यप्रदेश और मिजोरम विधानसभा चुनाव के लिए मतदान में अब केवल चार दिन शेष हैं। दोनों राज्यों में चुनाव प्रचार चरम पर पहुंच गया है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस अपने-अपने उम्मीदवारों के पक्ष में समर्थन प्राप्त करने के लिए एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। दोनों दलों के प्रमुख नेताओं का आज भी विभिन्न इलाकों में प्रचार का कार्यक्रम है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्यप्रदेश में छतरपुर और मंदसौर जिलों में चुनाव रैलियों को संबोधित करेंगे। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और कई अन्य नेता जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

अमितशाह ने कल एक जनसभा में कांग्रेस पर किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। आपके जमाने के अंदर किसान को यूरिया के लिए लाठियां खानी पड़ती थी। नरेन्द्र मोदी की सरकार आई है तब से नीम कोटेड यूरिया बनाकर उन्होंने काला बाजारी बंद कर दी। किसानों को जितना यूरिया चाहिए, उतना यूरिया उपलब्ध कराने का काम यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कल एक रैली में कहा कि यदि राज्य में कांग्रेस सत्ता में आई तो प्रदेश को कृषि का केन्द्र बनाएगी।
मध्यप्रदेश को कांग्रेस पार्टी पांच साल के अंदर हिन्दूस्तान का कृषि का सेंटर बना देगी। कांग्रेस पार्टी की सरकार हर ब्लॉक में हर डिस्ट्रिक में आप के खेत के पास फूड प्रोसेसिंग का कारखाना लगा देगी।

उधर, मिजोरम में श्री मोदी ने कल लुंगलेई में एक रैली को संबोधित किया और विभिन्न स्वंय सेवी और नागरिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ विचार-विमर्श किया। एक रिपोर्ट-

नागरिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक ज्ञापन सौंपा और मिजोरम तथा असम के बीच सीमा विवाद हल करने की अपील की। स्वयं सेवी संगठन समन्वय समिति ने प्रधानमंत्री से काफी लम्बे समय से ब्रू समस्या का समाधान करने का भी आग्रह किया। वहीं दूसरी तरफ लैंगटेंग विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवार जिन जलाला ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि यदि वे सत्ता में आते हैं तो मुफ्त वितरण नहीं करेंगे अपितु युवाओं को आय का जरिया तलाशने का प्रशिक्षण देंगे। एक चुनाव रैली में मेघालय के मुख्यमंत्री और एन.पी.पी. अध्यक्ष कोनॉर्ड संगमा ने कहा कि उनकी पार्टी का मुख्य एजेंडा जनजातीय युवाओं का सशक्तीकरण और कौशल विकास है।

230 सदस्यों की मध्यप्रदेश विधानसभा और 40 सदस्यों की मिजोरम विधानसभा के लिए बुधवार को मतदान कराया जाएगा।
220 सदस्यीय राजस्थान और 119 सदस्यीय तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए भी प्रचार में तेजी आ रही है। दोनों राज्यों में अगले महीने की 7 तारीख को वोट डाले जाएंगे।

Related posts