शनिवार, फ़रवरी 27
Shadow

पश्चिम बंगाल के लोगों ने परिवर्तन के लिए अपना मन बना लिया है: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पश्चिम बंगाल के लोगों ने परिवर्तन के लिए अपना मन बना लिया है। हुगली जिले के साहागंज में कल एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में न केवल सरकार में बदलाव, बल्कि राज्य को विकास के पथ पर आगे ले जाने के लिए वास्तविक बदलाव की आवश्यकता है। श्री मोदी ने कहा कि राज्य के हर कोने से लोग बदलाव के पक्ष में आवाज उठा रहे हैं।

आप लोगों का ये उत्‍साह, ये उमंग, ये ऊर्जा, कोलकाता से लेकर दिल्‍ली तक बहुत बड़ा संदेश दे रहा है। अब पश्चिम बंगाल पोरिबोर्तन का मन बना चुका है।

राज्य की सत्तारूढ़ सरकार पर आरोप लगाते हुए श्री मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल के गरीब लोगों और किसानों को पीएम किसान निधि तथा आयुष्मान भारत जैसी केंद्रीय योजनाओं के लाभ से वंचित किया जा रहा है।

केंद्र सरकार किसानों और गरीबों के हक का पैसा सीधा उनके बैंक खाते में जमा करती है, जबकि बंगाल सरकार की योजनाओं का पैसा, टीएमसी के टोलाबाजों की सहमति के बिना, गरीब तक पहुंच ही नहीं पाता। बंगाल के लाखों किसान परिवारों को पीएम किसान सम्‍मान निधि का पैसा इसी मानसिकता के कारण नहीं मिल पाया है। उनके हक को यहां की सरकार में बैठे हुए लोगों ने छीन लिया है। बंगाल के लाखों गरीब परिवार आयुष्‍मान भारत योजना के तहत पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा से आज भी वंचित है।

प्रधानमंत्री ने नोआपाडा और दक्षिणेश्वर के बीच कोलकाता मेट्रो रेल की विस्तारित सेवा को झंडी दिखाई। श्री मोदी ने पूर्वी और दक्षिण पूर्वी रेलवे की नई लाइनों का भी उद्घाटन किया और उन्हें राष्ट्र को समर्पित किया। श्री मोदी ने कहा कि मेट्रो के विस्तार से छात्रों सहित आम लोग लाभान्वित होंगे।

ट्रांसपोर्ट के माध्‍यम जितने बेहतर होंगे। आत्‍मनिर्भरता और आत्‍मविश्‍वास का हमारा संकल्‍प उतना ही सशक्‍त होगा। आज नोआपारा से दक्षिणेश्‍वर तक जिस खंड का उद्घाटन किया गया है। इससे डेढ़ घंटे की दूरी सिर्फ 25-35 मिनट के बीच में सिमट जाएगी। इस सुविधा से स्‍कूल, कॉलेज जाने वाले युवाओं को, दफ्तरों और फैक्ट्रियों में काम करने वाले कर्मचारियों को, श्रमिकों को बहुत लाभ होगा। यही नहीं कालीघाट और दक्षिणेश्‍वर में मां काली के मंदिरों तक पहुंचना भी अब श्रद्धालुओं के लिए बहुत आसान हो गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Enable Notifications    OK No thanks