पीएम मोदी ने दीनबंधु छोटूराम की प्रतिमा का किया अनावरण

gff

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सर छोटू राम की प्रतिमा का अनावरण किया. ये 64 फुट ऊंची प्रतिमा रोहतक जिले के सांपला में है. सांपला सर छोटू राम का पैतृक गांव भी है. प्रधानमंत्री ने महान विभूति को श्रद्धांजलि भी दी.

सर छोटू राम एक महान समाज सेवक, किसान नेता और स्वतंत्रता सेनानी थे. उन्होंने अपनी स्नातक की शिक्षा दिल्ली से पूरी की. उन्होंने बाद में आगरा से वकालत की डिग्री हासिल की. उन्होंने 1912 में जाट सभा का भी गठन किया. इसके बाद वे गांधी जी से जुड़े और अंग्रज़ों के ख़िलाफ़ कई आंदोलनों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया. 1937 में वे पंजाब प्रांत के राजस्व मंत्री भी बने. प्रधानमंत्री ने दीनबंधु के जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण पड़ाव से जुड़ी प्रदर्शनी भी देखी. इस मौके पर हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद रहे.

प्रधानमंत्री ने सर छोटू राम से जुड़ी एक फिल्म भी देखी. उन्होंने इसके बाद आगन्तुक पुस्तिका में अपने विचार साझा किए. प्रधानमंत्री इसके बाद रोहतक में ही जनसभा स्थल पर पहुंचे. वहां प्रधानमंत्री को परंपरा के मुताबिक सम्मान स्वागत किया गया. केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह सहित हिमाचल और जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल भी वहां मौजूद रहे. उन्होंने रोहतक में ही एक जनसभा को संबोधित करते हुए दीनबन्धु छोटू राम को किसानों और वंचितों का नेता बताया. प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका जीवन चुनौतियों से मुक़ाबला कर देश के लिए कुछ करने की प्रेरणा देता है.

प्रधानमंत्री ने रोहतक से ही बरही सोनीपत रेल कोच मरम्मत फैक्ट्री की आधारशिला रखी. यह हरियाणा के लिए एक नई औद्योगिक पहल होगी. इससे पहले प्रधानमंत्री ने कोच फैक्ट्री से जुड़ी एक प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि इस फैक्ट्री के लगने से रेलवे की क्षमता बढ़ेगी व रोजगार का सृजन होगा, साथ ही हरियाणा में विकास को नई रफ़्तार मिलेगी.

Related posts