प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड से सबसे अधिक प्रभावित छह राज्‍यों और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री के साथ उच्‍च स्‍तरीय वर्चुअल बैठक की

PM Narendra Modi Addressed the convocation of IIT Guwahati

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज कोविड-19 महामारी के अधिक प्रकोप वाले छह राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेश दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और स्‍वास्‍थ्‍यमंत्री की उच्‍च स्‍तरीय बैठक की वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए अध्‍यक्षता की। उन्‍होंने कोविड महामारी की ताजा स्थिति और इससे निपटने की तैयारियों तथा प्रबंधन की समीक्षा की। देश में कोविड रोगियों की कुल संख्‍या के 63 प्रतिशत मामले इन छह राज्‍यों और दिल्‍ली से हैं। इन राज्‍यों में – महाराष्‍ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्‍तर प्रदेश, तमिलनाडु और पंजाब शामिल हैं।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्‍य आपदा कार्रवाई निधि- एसडीआरएफ के बारे में महत्‍वपूर्ण फैसले किए गए हैं और इसके लिए राज्‍यों को दी जाने वाली धनराशि बढ़ा दी गई है। उन्‍होंने यह भी कहा कि देश में कोविड महामारी से संक्रमित लोगों का पता लगाने और उनकी निगरानी के नेटवर्क को मजबूत करने की आवश्‍यकता है। प्रधानमंत्री ने संक्रमित लोगों के परीक्षण, उपचार और उन पर नज़र रखने पर अधिक ध्‍यान देने की आवश्‍यकता पर भी जोर दिया। श्री मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के वायरस के फैलाव को रोकने के लिए मास्‍क की महत्‍वपूर्ण भूमिका है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संक्रमण के विस्‍द्ध लड़ाई के साथ-साथ अब आर्थिक मोर्चे पर भी हमें पूरी ताकत से आगे बढ़ना है।

एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य के बीच दवाईयां आसानी से पहुंचे, यह हमें सबने मिलकर के ही देखना होगा। संयम, संवेदना, संवाद और सहयोग की जो प्रतिबद्धता है इस कोरोना काल में देश ने दिखाई है उसको हमें और आगे जारी रखना है। संक्रमण के विस्‍द्ध लड़ाई के साथ-साथ अब आर्थिक मोर्चे पर भी हमें पूरी ताकत से आगे बढ़ना है। हमारे साझा प्रयास जरूर सफल होंगे।

Related posts

Leave a Comment