प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आंध्र प्रदेश में विशाखापट्टनम कार्यनीतिक पेट्रोलियम भंडार और ओएनजीसी की बसिष्‍ठ परियोजना का उद्घाटन किया

PM Narendra Modi inaugurated Vishakhapatnam strategic petroleum reserves and ONGC's bustling project in Andhra Pradesh

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज आंध्र प्रदेश में गुंटूर में विशाखापट्टनम कार्यनीतिक पेट्रोलियम भंडार राष्‍ट्र को समर्पित किया। इस केन्‍द्र की क्षमता 13 लाख 30 हजार मीट्रिक टन है।

प्रधानमंत्री ने कृष्‍णा-गोदावरी नदी घाटी में स्थित तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड की वशिष्‍ठ और एस-1 विकास परियोजना का उद्घाटन भी किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कृष्‍णपट्टनम में भारत पेट्रोलियम निगम लिमिटेड के नए टर्मिनल की आधारशिला रखी।

गुंटूर में जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह परियोजना आंध्र प्रदेश के साथ-साथ पूरे देश की ऊर्जा आवश्‍यकताओं को पूरा करने की दृष्टि से महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि इन परियोजनाओं से रोजगार के काफी अवसर पैदा होंगे।

सारे प्रोजेक्ट से यहां के युवाओं को सीधा रोजगार तो मिलेगा ही, साथ ही गैस पर आधारित उद्योगों का भी विकास होगा। साथियों भारत को गैस और क्लीन फ्यूल बेस इकोनॉमिक बनाने के लिए हम तेज गति से काम कर रहे हैं। चाहे रसोई में एलपीजी और पीएनजी के कनेक्शन हों, गाड़ियों में सीएनजी हों या फिर गैस से फर्टिलाइजर बनाने वाले कारखानें, पूरे देश में व्यापक काम हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार देश के सभी तटवर्ती इलाकों का पेट्रोलियम केन्‍द्रों के रूप में विकास करने पर विशेष ध्‍यान दे रही है।

साथियों मुश्किल परिस्थितियों में देश को अपनी आवश्यकता के लिए गैस, पेट्रोल, डीजल की कमी न हो, इसके लिए केन्द्र सरकार देश की अलग-अलग जगहों पर ऑयल रिजर्व बना रही है। आवश्यकता पड़ने पर करीब महीने भर तक देश की पेट्रोलियम से जुड़ी जरूरतें पूरी हो सके। हमारा प्रयास है कि हमारी जो कोस्टल लाइन है, चाहे दक्षिण भारत हो, पूर्वी भारत हो या पश्चिमी भारत, उनको पेट्रोलियम के हब के तौर पर विकसित किया जाए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीबों, दलितों और जनजातीय लोगों को मुफ्त गैस कनेक्‍शन देने का काम तेजी से चल रहा है। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार ने हृदय योजना के तहत अमरावती को धरोहर नगर चुना है।

Related posts