दुनिया के सबसे बड़े कोरोना टीकाकरण अभियान की तैयारियां जोरों पर, वैक्सीन को पूरे देश में पहुंचाया जा रहा है

भारत में दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम शुरु करने की तैयारियां जोरों पर है। अनेक विमानों से कोविड वैक्‍सीन देशभर के हवाई अड्डों पर पहुंचाई जा रही है, जहां से वैक्‍सीन को शहरों और कस्‍बों में भेजा जा रहा है। देश में कोविड टीकाकरण कार्यक्रम शनिवार से आरम्‍भ होना है। असम से गोवा और जम्‍मू-कश्‍मीर से केरल तक टीकों को सुचारु और सुरक्षित रूप से देश के कोने-कोने में पहुंचाया गया है।

सूत्रों के अनुसार सरकार की ओर से खरीदी गई कोविशील्‍ड वैक्‍सीन की एक करोड़ दस लाख खुराक का 75 प्रतिशत हिस्‍सा पिछले दो दिन में देश के लगभग 60 निर्धारित स्‍थानों पर पहुंचाया गया। हैदराबाद की भारत बॉयोटेक कम्‍पनी में विकसित स्‍वदेशी कौवक्‍सीन की दो लाख 40 हजार खुराक पहले चरण में 12 शहरों में पहुंचाई गई। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया है कि सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के लिए उनके यहां मौजूद स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों की संख्‍या के अनुपात में वैकसीन का आवंटन किया गया है।

राष्‍ट्रीय प्राथमिकता सूची के अनुसार वैक्‍सीन सबसे पहले स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और अग्रिम पंक्तियों के कर्मचारियों को दी जाएगी। प्रत्‍येक टीकाकरण सत्र में प्रतिदिन लगभग सौ लोगों को वैक्‍सीन दी जाएगी।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट किया है कि कोविड वैक्‍सीन के आवंटन में किसी भी राज्‍य के साथ भेदभाव करने का सवाल ही नहीं है। सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को उनके स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की संख्‍या के अनुरूप कोविशील्‍ड और कोवैक्सिन टीके आवंटित किए गये हैं। वैक्‍सीन खुराक की ये शुरूआती आपूर्ति है और आने वाले समय में आवश्‍यकतानुसार टीके की और भी खुराक उपलब्‍ध करायी जायेगी।

मंत्रालय ने कहा है कि उसने राज्‍यों को सलाह दी है कि अभियान शुरू करें। अभियान के दौरान प्रतिदिन लगभग सौ लोगों के टीकाकरण को सुनिश्चित बनायें।

Related posts

Leave a Comment