राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज नई दिल्ली में 14वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह को संबोधित किया

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज (25 जनवरी, 2024) नई दिल्ली में 14वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह में भाग लिया और उसे संबोधित किया। इस अवसर पर, राष्ट्रपति ने 2023 के दौरान चुनावों के संचालन के कार्य में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए राज्य एवं जिला स्तर के अधिकारियों को वर्ष 2023 का सर्वश्रेष्ठ चुनावी कार्य पुरस्कार प्रदान किए। विभिन्न सरकारी विभागों और मीडिया संगठनों सहित महत्वपूर्ण हितधारकों को भी मतदाताओं को जागरूक करने में बहुमूल्य योगदान देने के लिए पुरस्कार प्रदान किए गए।

सभा को संबोधित करते हुए, राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे लोकतंत्र की विशालता और विविधता हमारे लिए गर्व की बात है। हमारे लोकतंत्र की गौरवशाली यात्रा में निर्वाचन आयोग की अहम भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि अब तक निर्वाचन आयोग द्वारा 17 आम चुनाव और 400 से अधिक विधानसभा चुनाव कराए जा चुके हैं। उन्होंने निष्पक्ष एवं समावेशी चुनाव प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए निर्वाचन आयोग की वर्तमान और पिछली टीमों की सराहना की।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे देश की चुनाव प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर आधुनिक तकनीक का सफल उपयोग दुनिया के सभी लोकतांत्रिक देशों के लिए एक उदाहरण है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि चुनाव प्रक्रिया से संबंधित सभी गतिविधियों में चुनाव आयोग द्वारा तकनीक के प्रभावी उपयोग को यथासंभव और बढ़ाया जाएगा।

राष्ट्रपति ने कहा कि देश के सभी हिस्सों में रहने वाले मतदाताओं के लिए मतदान की व्यवस्था करना आसान नहीं है। सभी प्रकार की चुनौतियों के बावजूद निर्वाचन आयोग की टीम इस कठिन दायित्व को पूरा करती है। यह हमारे लोकतंत्र की बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने मतदान केन्द्रों पर जाने में असमर्थ रहने वाले लोगों के लिए घर पर मतदान की सुविधा प्रदान करने के लिए चुनाव आयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि इन प्रयासों ने हमारे देश की चुनाव प्रक्रिया को और अधिक समावेशी बना दिया है।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे युवा हमारे लोकतंत्र के भावी नेता हैं। उन्होंने मतदाता फोटो पहचान पत्र प्राप्त करने वाले युवा मतदाताओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह अधिकार मिलने के बाद उनके कर्तव्य भी बढ़ गये हैं। उन्होंने कहा कि यहां उपस्थित युवा मतदाता देश के उन करोड़ों युवाओं के प्रतिनिधि हैं जो वर्ष 2047 के स्वर्णिम भारत के निर्माण में निर्णायक भूमिका निभायेंगे।

राष्ट्रपति को मुख्य निर्वाचन आयुक्त श्री राजीव कुमार से ‘आम चुनाव 2024 के लिए ईसीआई की पहल’ की पहली प्रति प्राप्त हुई।

वर्ष 2011 से, भारत निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस को मनाने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य नागरिकों के बीच चुनावी जागरूकता पैदा करना और उन्हें चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना है। ‘वोटिंग जैसा कुछ नहीं, मैं निश्चित रूप से वोट करता हूं’ राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2024 की थीम है।