प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आश्‍वासन दिया है कि नागरिकता संशोधन विधेयक से असम और पूर्वोत्‍तर के हितों को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा

PM Modi

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने असम और पूर्वोत्‍तर के लोगों को आश्‍वासन दिया है कि नागरिकता संशोधन विधेयक उनके हितों को किसी भी प्रकार से नुकसान नहीं पहुंचाएगा। असम के चांगसारी में जनसभा को संबोधित करते हुए। उन्‍होंने कहा कि नागरिकता केवल राज्‍य सरकारों की उचित जांच और सिफारिश के बाद ही दी जाएगी।

एन आर सी के साथ-सा‍थ नागरिकता से जुड़े कानून को लेकर असम और नॉर्थ र्इस्‍ट के राज्‍यों की भाषा, संस्‍कृति और संसाधनों पर आप के हक की रक्षा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी एनडीए सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि उनकी सरकार उन लोगों को आश्रय देने के लिए प्रतिबद्ध है, जो पड़ोसी देशों में अल्‍पसंख्‍यक हैं और अत्‍याचार के कारण उन्‍हें मजबूरन भारत पलायन करना पड़ा।

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि एनडीए सरकार 36 साल के असम समझौते को निर्धारित समय के भीतर लागू करने के लिए वचनबद्ध है।

हमारा प्रयास है असम अकॉर्ड के क्‍लॉज सिक्‍स को जल्‍द से जल्‍द लागू किया जाए और इसके लिए हमारी सरकार द्वारा एक कमि‍टी भी बनाई जा चुकी है। और मुझे विश्‍वास है ये कमि‍टी आप के भावनाओं का, आपकी हितों का, आपकी आशा, आकांक्षाओं का पूरा ख्‍याल रखते हुए रिपोर्ट करेगी। ऐसा मुझे पूरा विश्‍वास है।

Related posts