प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए चीन के छिंगताओ शहर पहुंचे

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन-एससीओ के 18वें शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए अब से कुछ देर पहले चीन के शहर छिंगताओ पहुंचे गए हैं। शिखर सम्‍मेलन कल से शुरू हो रहा है। आठ सदस्‍यों वाले एससीओ में पूर्ण सदस्‍य के रूप में भारत की यह पहली भागीदारी होगी। प्रधानमंत्री आज शिखर सम्‍मेलन से अलग चीन के राष्‍ट्रपति षी चिनफिंग से छिंगताओ में मुलाकात करेंगे। उम्‍मीद है कि दोनों नेता व्‍यापार और निवेश के क्षेत्र में आपसी संबंधों को सुदृढ़ करने के तौर तरीकों का पता लगाएंगे। भारत और चीन के बीच समग्र द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा भी करेंगे। शंघाई सहयोग संगठन के सदस्‍य देशों के अनेक नेताओं के साथ प्रधानमंत्री मोदी का विचार विमर्श का भी कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री आज चीन के राष्‍ट्रपति द्वारा आयोजित भोज में भी हिस्‍सा लेंगे। हमारे संवाददाता ने बताया है कि छिंगताओ में श्री मोदी के स्‍वागत की तेयारी पूरी कर ली गई है।

छिंगताओ शिखर सम्‍मेलन के लिए पूरी तरह तैयार है। शहर को प्रदूषित करने वाले सभी कल-कारखानों को बंद कर दिया गया है, जिससे सम्‍मेलन में शामिल होने वाले को किसी तरह की असुविधा न हो। चीनी आयोजकों ने सम्‍मेलन में भाग लेने वालों के लिए कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किये हैं। इसमें सांस्‍कृतिक और कला और अन्‍य गतिविधियों से जुड़े आयोजन शामिल हैं।

इससे पहले चीन के राष्‍ट्रपति षी चिनफिंग ने कल पेइचिंग में रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के साथ विचार विमर्श किया। दोनों नेता चीन-रूस संबंधों को और सुदृढ़ करने पर सहमत हुए। दोनों नेता इस बात पर भी सहमत थे कि चीन और रूस को स्‍थाई मैत्री और सामरिक तालमेल की अवधारणा पर अमल करना चाहिए और सभी क्षेत्रों में सहयोग सुदृढ़ करना चाहिए।

Related posts