कतर की अदालत ने हिरासत में बंद सभी आठ पूर्व भारतीय नौसेनिकों को रिहा किया

भारत ने कतर में हिरासत में लिए गए दाहरा ग्लोबल कंपनी में काम करने वाले आठ भारतीय नागरिकों की रिहाई का स्वागत किया है। एक वक्तव्य में विदेश मंत्रालय ने बताया कि इन आठ लोगों में से सात भारत लौट आए हैं। मंत्रालय ने भारतीय नागरिकों की रिहाई और उन्हें स्वदेश भेजने के लिए कतर के अमीर के फैसले की सराहना की है।

भारतीय नौसेना के पूर्व सैनिकों को कतर में मौत की सजा सुनाई गई थी। उन्हें आज रिहा कर दिया गया। भारत की ओर से कूटनीतिक हस्तक्षेप के बाद इन लोगों के मृत्युदंड को लंबी कैद में बदल दिया गया था। ये लोग जासूसी के आरोप में अक्टूबर 2022 से कतर की जेल में थे।

रिहाई के बाद सात पूर्व नौसेना अधिकारियों ने आज सवेरे दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचने पर भारत माता की जय के नारे लगाए। हवाई अड्डे पर मीडिया से बातचीत में इन लोगों ने कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी के साथ उनकी सजा का मुद्दा उठाने और उनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना की। इन लोगों ने बताया कि वे लगभग 18 महीने से घर आकर भारत में अपने प्रियजनों से मिलने का इंतजार कर रहे थे।