आरसीएफ ने 18 नवम्बर को 5.44 करोड़ रूपए मूल्य के अपने औद्योगिक उत्पाद बेचकर अबतक की अधिकतम दैनिक बिक्री दर्ज की

राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फ़र्टिलाइजर्स लिमिटेड (आरसीएफ) वर्तमान कोविड-19 की स्थिति के बावजूद अपने संचालन को जारी रखने में सफल रही है और इसने चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में अपने उर्वरकों एवं औद्योगिक उत्पादनों की बिक्री में कई मील के पत्थर पार किये हैं। ‘आत्मनिर्भर भारत’ को बढ़ावा देते हुए, आरसीएफ ने 18 नवंबर 2020 को 5.44 करोड़ रूपए मूल्य के अपने औद्योगिक उत्पाद बेचकर अब तक की सबसे अधिक दैनिक बिक्री दर्ज की है।

इस वित्तीय वर्ष के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर, औद्योगिक उत्पाद की बिक्री पिछले वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान दिसंबर 2019 तक दर्ज की गई संचयी बिक्री को पार कर चुकी है।

एस.सी. मुदगेरीकर, सीएमडी, आरसीएफ, ने कहा कि रासायनिक उर्वरक एवं औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन के अलावा, आरसीएफ सक्रिय रूप से जैविक उर्वरकों और गैर-रासायनिक जैव उर्वरकों के उपयोग को बढ़ावा देने में लगा हुआ है। जैव-उर्वरक वैसे उत्पाद हैं जिनमें विभिन्न प्रकार के कृषि लाभकारी जीवों की जीवित कोशिकाएं होती हैं। वे जैविक प्रक्रियाओं के माध्यम से फॉस्फेट, नाइट्रोजन, सल्फर, जस्ता, पोटेशियम जैसे पौष्टिक रूप से महत्वपूर्ण तत्वों को जुटाते हैं।

आरसीएफ ने वर्षों से जैविक एवं जैव उर्वरकों की बिक्री में लगातार वृद्धि दर्ज की है।

 उत्पाद का नाम2018-192019-202020-21(अक्टूबर2020 तक)
जैविक उर्वरकसिटी कम्पोस्ट(मीट्रिक टन में)35,62140,32927,140
जैव उर्वरकबिओला(किलो लीटर में)6812865

आरसीएफ की अनुसंधान एवं विकास टीम ने वर्ष 2019-20 में ‘जैविक विकास उद्दीपक’(ऑर्गैनिक ग्रोथ स्टिमुलेंट)को सफलतापूर्वक विकसित और लॉन्च किया है। यह पौधों की वृद्धि को बढ़ावा देने वाले पदार्थों से लैस ‘कम मात्रा में उच्च उपज’ वाला उत्पाद है। यह उत्पाद पारंपरिक खनिज उर्वरकों की प्रभावशीलता को बढ़ाता है और फसलों की विभिन्न क्रियात्मक प्रक्रियाओं में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। यह अंकुरण, प्रस्फुटन, वृद्धि, फूल लगने, फल पकने, फूलों की संख्या को बढ़ाता है, फूल और फल का गिरना कम करता है, फल की गुणवत्ता और मात्रा को बढ़ाता है।

आरसीएफ ने वर्ष 2019-20 में 1.55 किलो लीटर और अक्टूबर 2020 तक 3 किलो लीटर ‘जैविक विकास उद्दीपक’ (ऑर्गैनिक ग्रोथ स्टिमुलेंट) की बिक्री की है।

Related posts

Leave a Comment