भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर बढ़कर 23.3 प्रतिशत हुई

देश में कोविड-19 से ठीक होने की दर बढ़कर 23 दशमलव तीन प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि उपचार के बाद स्वस्थ होने की दर में लगातार वृद्धि हो रही है। उन्होंने बताया कि अब तक सात हजार 27 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं।

हमारा रिकवरी रेट करीब 23.3 परसेंट इस समय हो गया है जो कि एक बहुत ही प्रोग्रेसिव इन्‍क्रीज है। आज देश में 17 ऐसे जिले हैं जहां पर पहले केस आए थे लेकिन पिछले 28 दिनों से कोई नया केस रिपोर्ट नहीं हुआ है। इन जिलों में दो जिले एड हुए हैं और एक जिला ड्रॉप हुआ है। जो जिले एड हुए हैं वह है कलिंग पोंग पश्चिम बंगाल में, वायनाड केरल में और जो जिला जहां पर एक एडिशनल केस आया है वह है लखीसराय बिहार में।

कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि वाले रोगियों की संख्या 29 हजार, 974 हो गई है। 22 हजार दस लोगों का उपचार चल रहा है। इस महामारी से 937 लोगों की मौत हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि पिछले 28 दिनों में 17 जिलों में कोई नया संक्रमण नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 से अधिक संक्रमित 20 देशों की जनसंख्या का योग भारत की जनसंख्या के लगभग बराबर है। जबकि इन 20 देशों में संक्रमित लोगों की संख्या भारत में संक्रमित लोगों की संख्या से 84 गुणा अधिक है। उन्होंने कहा कि अधिकतम संक्रमण वाले इन 20 देशों की तुलना में भारत में कोविड-19 से मौत की संख्या 200 गुणा कम है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के उपचार के लिए प्लाज्मा थेरैपी सहित अभी कोई भी उपचार मान्य नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद इस संबंध में अध्ययन पूरा नहीं कर लेता और कोई ठोस वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिलता, प्लाज्मा थेरैपी का उपयोग केवल अनुसंधान या परीक्षण के लिए होना चाहिए।

Related posts

Leave a Comment