तेलंगाना, कर्नाटक और महाराष्‍ट्र में भारी वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य जोरो पर

तेलंगाना, कर्नाटक और महाराष्‍ट्र में भारी वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य जोरो पर है। तेलंगाना में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के एक हजार 436 मामलों के सामने आने के बाद राज्‍य में अब तक महामारी के कुल दो लाख 22 हजार 111 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। कल तेलंगाना में 41 हजार से ज्‍यादा नमूनों की जांच की गई। राज्‍य में कोरोना से स्‍वस्‍थ होने की दर 89 दशमलव पांच प्रतिशत हो गयी है। अब तक राज्‍य में एक लाख 98 हजार 790 लोग कोरोना से उबर चुके हैं।

इस बीच, राज्‍य के चिकित्‍सा और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से आज सुबह जारी बुलेटिन के अनुसार तेलंगाना में अब तक एक हजार 271 लोग कोरोना महामारी से मौत का शिकार हुए है। राज्‍य में इस समय 22 हजार से ज्‍यादा लोगों का कोरोना का इलाज चल रहा है। इनमें से 18 हजार 379 पीडि़त अपने घर में ही पृथकवास में हैं।

उत्तर कर्नाटक में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी वर्षा से आम जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त्‍ हो गया है और संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया। राज्य के आपदा निगरानी केंद्र के अनुसार कलबुर्गी, विजयपुरा, रायचूर और यादगीर में भारी वर्षा से 22 हजार सात सौ 52 लोग बेघर हो जाने के कारण एक सौ 51 राहत शिविरों में रह रहे हैं। नदी के किनारे बसे दो सौ 45 गाँवों में से 83 गाँव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं और 20 हजार दो सौ 69 ग्रामीण लोगों को सुरक्षा के मद्देनजर दूसरे स्‍थान पर ले जाया गया है।

एनडीआरएफ, अग्निशमन और आपातकालीन एजेंसियों ने नदी किनारे रुके 4 सौ 48 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है। प्रारंभिक आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान हुई बारिश से 3 सौ 79 मकान आंशिक रूप से और चार पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गये हैं। 15 अक्टूबर को जारी आंकड़ों के अनुसार भारी बारिश ने 2 हजार सात सौ 12 घरों को आंशिक रूप से और 3 सौ 18 घरों को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया है।

महाराष्ट्र में, सांगली, सतारा और कोल्हापुर जिलों में लगातार बरसात होने से खड़ी फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। अकेले सांगली में दस हजार हेक्टेयर में उगी फसलों को नुकसान हुआ है, जबकि, पिछले सप्ताह पश्चिमी महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में लगातार चार दिन तक बरसात के कारण कोल्हापुर जिले में 24 हजार 9 सौ 50 से अधिक किसान प्रभावित हुए हैं।

Related posts

Leave a Comment