सर्बानंद सोनोवाल ने असम के बाढ़ प्रभावित लोगों की सहायता का आकलन करने के लिए नागांव स्थित राहत शिविर का दौरा किया

केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग व आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने आज क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए असम के नागांव स्थित फुलगुरी उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्थापित राहत शिविर का दौरा किया। इसका उद्देश्य बाढ़ पीड़ितों को प्रदान की गई सहायता का आकलन करना था। इसके अलावा सर्बानंद सोनोवाल ने प्रभावित लोगों से बात भी की। सर्बानंद सोनोवाल ने इस विनाशकारी बाढ़ में अपनी जान गंवाने वाले सभी लोगों के परिवारों और निकट परिजनों के लिए अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त की।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस विनाशकारी बाढ़ से हुई क्षति और तबाही का आकलन करने के लिए एक केंद्रीय टीम जल्द ही दौरा करेगी। यह टीम अपने दौरे के बाद लोगों के लिए हर संभव सहायता प्रदान करने को लेकर एक रिपोर्ट तैयार करेगी व इसे सरकार को सौंपेगी।

बाढ़ राहत शिविर का दौरा करने के बाद सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर है और सरकार इस बाढ़ से प्रभावित सभी लोगों को राहत व सहायता प्रदान करने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जमीनी स्थिति की जानकारी प्राप्त की है। सर्बानंद सोनोवाल ने आगे बताया कि उन्होंने इस दुर्भाग्यपूर्ण प्राकृतिक आपदा के प्रकोप पर अपनी चिंता व्यक्त की है और केंद्र से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है।

वहीं, अधिकारियों के साथ बातचीत के दौरान सर्बानंद सोनोवाल ने बाढ़ प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए सभी कर्मचारियों को धन्यवाद दिया और उनसे लोगों के कल्याण के लिए इसे जारी रखने का अनुरोध किया।

सर्बानंद सोनोवाल ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के नेतृत्व में असम की टीम बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है और इस संबंध में वे नियमित आधार पर मुख्यमंत्री से बात कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री ने गुवाहाटी और राहा के बीच स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों ओर बाढ़ की स्थिति की भी समीक्षा की। वहीं, सर्बानंद सोनोवाल को इस क्षेत्र में प्रदान किए गए बचाव और राहत सहायता के बारे में जानकारी दी गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.