मुद्रा, जनधन और स्‍टैंड अप इंडिया जैसी योजनाएं बड़े पैमाने पर वित्‍तीय संसाधन उपलब्‍ध कराने में सहायक: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि मुद्रा योजना, जन धन योजना और स्‍टैंडअप जैसी योजनाएं लोगों को वित्‍तीय संसाधन उपलब्‍ध कराने में मददगार साबित हो रही हैं। राष्‍ट्रपति भवन में नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक का शुभारंभ करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आर्थिक असंतुलन दूर करने को कहा। उन्‍होंने कहा कि आयुष्‍मान भारत के तहत डेढ़ लाख स्‍वास्‍थ्‍य और आरोग्‍य केंद्रों का निर्माण किया जा रहा है। करीब दस करोड़ परिवारों को प्रतिवर्ष पांच लाख रूपये का स्‍वास्‍थ्‍य बीमा सुविधा उपलब्‍ध कराया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि समग्र शिक्षा अभियान के तहत सरकार ने शिक्षा के लिए एक व्‍यापक दृष्टिकोण अपनाया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वित्‍त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था सात दशमलव सात प्रतिशत की अच्‍छी दर से आगे बढ़ी है। उन्‍होंने कहा कि आज की बैठक के एजेंडे में जिन विषयों पर चर्चा होनी है उनमें किसानों की आमदनी दोगुनी करना, आयुष्‍मान भारत, पिछड़े जिलों का विकास, मिशन इंद्रधनुष, पोषाहार मिशन और महात्‍मा गांधी की 150वीं जन्‍मशती समारोह शामिल हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उज्‍ज्‍वला, सौभाग्‍य, उजाला, जनधन, जीवन ज्‍योति, सुरक्षा बीमा योजना और मिशन इंद्रधनुष के सात महत्‍वपूर्ण कल्‍याणकारी कार्यक्रमों का लाभ पूरे देश में पहुंचाने का लक्ष्‍य रखा गया है।

मुख्‍यमंत्रियों और अन्‍य प्रतिनिधियों का स्‍वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने दोहराया कि संचालन परिषद वह मंच है जो ऐतिहासिक बदलाव ला सकती है।

दिनभर चलने वाली इस बैठक में केंद्रीय मंत्री, विभिन्‍न राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री, केंद्रशासित प्रदेशों के उपराज्‍यपाल और केंद्र सरकार के वरिष्‍ठ अधिकारी भाग ले रहे हैं।

Related posts