वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी हिमालय ग्‍लेश्यिर का दो तिहाई हिस्‍सा वर्ष 2100 तक पिघल सकता है

वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि यदि धरती के बढ़ते तापमान को रोका नहीं गया हिमालय ग्‍लेश्यिर का दो तिहाई हिस्‍सा वर्ष 2100 तक पिघल सकता है। जलवायु और पर्यावरण पर नये व्‍यापक अध्‍ययन के बाद काठमांडु में जारी हिन्‍दू कुश हिमालय आकलन रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक तापमान को डेढ़ डिग्री तक सीमित रखने की पेरिस संधि लागू करने से ग्‍लेशियर का पिघलना एक तिहाई हिस्‍से तक सीमित किया जा सकता है। अंतर्राष्‍ट्रीय एकीकृत पर्वत विकास केन्‍द्र के महानिदेशक एकलव्‍य शर्मा ने जलवायु परिवर्तन पर रोक लगाने के लिए तुरन्‍त कार्रवाई पर जोर दिया है।

इस रिपोर्ट में दो बड़े निष्कर्ष निकले हैं। पहला तत्‍काल कार्रवाई की आवश्‍यकता है। दूसरा कार्रवाई नहीं करने की सूरत में इसकी बड़ी कीमत क्षेत्रीय और वैश्विक दोनों स्‍तर पर चुकानी होगी। इ‍सलिए हमें तुरन्‍त कुछ करना होगा।

Related posts

Leave a Comment