खेल मंत्रालय ने हॉकी ओलंपिक खिलाड़ी मोहिन्‍दर पाल सिंह के उपचार के लिए 10 लाख रुपये की राशि मंजूर की

खेल मंत्रालय ने गुर्दों की दीर्घकालिक बीमारी से जूझ रहे और इस समय डायलिसिस पर उपचाराधीन हॉकी ओलंपिक खिलाड़ी मोहिन्‍दर पाल सिंह के इलाज के लिए 10 लाख रुपये की राशि मंजूर की है। इस धनराशि को पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय खिलाड़ी राष्‍ट्रीय कल्‍याण कोष के तहत मंजूर किया गया है और यह कल उनकी पत्‍नी शिवजीत सिंह को प्रदान की गई।

केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने मोहिन्‍दर पाल सिंह को वित्‍तीय सहायता देने के निर्णय पर कहा, ‘यह खेल मंत्रालय का लगातार प्रयास रहा है कि जिन खिलाडि़यों ने खेलों में भारत के लिए अपना योगदान दिया है, उनकी मदद सुनिश्चित की जानी है। मोहिन्‍दर पाल सिंह जी ने एक खिलाड़ी और कोच के रूप में भारतीय हॉकी को अपना बेहतर योगदान दिया है और उनकी मौजूदा शारीरिक स्थिति इस समय हमारे लिए काफी चिंता का विषय है। गुर्दों की बीमारी का उपचार काफी खर्चीला है और हमने अपनी तरफ से उनकी वित्‍तीय सहायता की है। मैंने नोएडा के सांसद महेश शर्मा जी, जहां एम. पी. सिंह जी रहते हैं, से बातचीत की है और उन्‍होंने एक पत्र प्रधानमंत्री राहत कोष को भेजा है, ताकि इस धनराशि से उनके अस्‍पताल के बिल चुकाए जा सकें।’ खेल मंत्री रिजिजू ने शिवजीत सिंह और हॉकी के अन्‍य खिलाडियों से मुलाकात कर उन्‍हें मंत्रालय की ओर से सहायता का आश्‍वासन दिया है।

एम.पी. सिंह भारतीय हॉकी टीम के कोच रहे चुके हैं और वह अपने समय के बेहतरीन खिलाडियों में शुमार हैं, जिन्‍होंने 1988 के ग्रीष्‍मकालीन ओलंपिक खेलों समेत कई अंतर्राष्‍ट्रीय कार्यक्रमों में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया है। वह 2007 में एशिया कप जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के एक सदस्‍य भी रहे थे।

Related posts

Leave a Comment