रेल मंत्रालय ने राज्‍य सरकारों से श्रमिक ट्रेनों के बारे में योजना और तालमेल बढ़ाने का अनुरोध किया

रेल मंत्रालय ने राज्य सरकारों से अनुरोध किया है कि वे श्रमिक ट्रेनों के बारे में उचित योजना और तालमेल सुनिश्चित करें और देखें कि रेल मोड द्वारा फंसे लोगों के आवागमन की प्रस्‍तावित मांग की अच्छी तरह से रूपरेखा प्रस्‍तुत की जाए और उसे निर्धारित किया जाए। “श्रमिक स्पेशल” कुछ सबसे घने यातायात वाले वाले गलियारों में चल रही हैं, जिनमें बिजली संयंत्रों के लिए कोयला, खाद्यान्‍न, उर्वरक, सीमेंट, आदि जैसे आवश्‍यक सामान को लाया-ले जाया जाता है। रेलवे ने आवश्यक आपूर्ति लाइन को बनाए रखना सुनिश्चित करने के…

Read More

भारतीय रेलवे ने देश भर में 3736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई, 50 लाख प्रवासियों को मुफ्त भोजन और पानी की बोतलें’ वितरित कीं

भारतीय रेलवे ने 1 मई, 2020 से ही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने वाले लगभग 50 लाख प्रवासियों को 85 लाख से भी अधिक ‘मुफ्त भोजन’ और लगभग 1.25 करोड़ ‘मुफ्त पानी की बोतलें’ वितरित की हैं। इसमें भारतीय रेलवे के पीएसयू आईआरसीटीसी द्वारा तैयार किए जा रहे और जोनल रेलवे द्वारा वितरित किए जा रहे भोजन शामिल हैं। सभी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रा कर रहे प्रवासियों को भोजन और पानी की बोतलें उपलब्‍ध कराई जा रही हैं। आईआरसीटीसी यात्रा कर रहे प्रवासियों को रेल नीर पानी की…

Read More

भारतीय रेलवे ने अबतक 2813 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं, 37 लाख से भी अधिक यात्रियों ने सफर किया

भारतीय रेलवे ने 24 मई 2020 की सुबह 10 बजे तक 37 लाख से भी अधिक यात्रियों को लेकर 2813 से ज्‍यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं। लगभग 60 प्रतिशत ट्रेनें गुजरात, महाराष्ट्र एवं पंजाब से रवाना हुईं और ये मुख्‍य रूप से उत्तर प्रदेश एवं बिहार की तरफ जा रही हैं। 80 प्रतिशत श्रमिक स्पेशल ट्रेनें उत्तर प्रदेश और बिहार के विभिन्न गंतव्यों (उत्तर प्रदेश के लिए 1301 और बिहार के लिए 973) के लिए रवाना हुई हैं। उत्तर प्रदेश में ज्‍यादातर गंतव्य लखनऊ-गोरखपुर सेक्टर और बिहार में अधि‍कतर गंतव्य पटना…

Read More

भारतीय रेलवे अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करेगा, 6 लाख फंसे हुए प्रवासियों को लाभ होगा

भारतीय रेलवे अगले 10 दिनों में 2600 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करेगा इस फैसले से लगभग 36 लाख फंसे हुए प्रवासियों को लाभ होगा भारतीय रेलवे ने पिछले 23 दिनों में 2600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया अब तक लगभग 36 लाख फंसे प्रवासियों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया गया देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है, वहीं भारतीय रेलवे इस महत्वपूर्ण समय में गंभीर रूप से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। इन  प्रवासियों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाकर…

Read More

भारतीय रेल देश में रेलवे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए तैयार

भारतीय रेल देश में रेलवे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए तैयार

भारतीय रेल देशभर में रेलवे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियों के संचालन के लिए तैयार है। रेल और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने आज देशभर के जिला कलेक्टरों से फंसे हुए श्रमिकों और उनके गंतव्यों की सूची तैयार करने और उसे राज्य नोडल अधिकारी के माध्यम से रेलवे में आवेदन करने को कहा है। भारतीय रेल एक दिन में लगभग 300 श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियां चलाने में सक्षम है, लेकिन वर्तमान में इसका आधे से भी कम उपयोग किया जा रहा है। पूर्ण क्षमता के साथ रेलमार्गों के…

Read More

भारतीय रेलवे ने लॉकडाउन में 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई, 10 लाख लोगो को उनके घर पहुंचाया

Indian Railways runs 800 workers special trains in lockdown, 10 lakh people delivered to their homes

विभिन्न स्थानों पर पलायन करके गए फंसे श्रमिकों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों की आवाजाही के संबंध में गृह मंत्रालय के आदेश के बाद, भारतीय रेलवे ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन का निर्णय लिया। 14 मई 2020 तक, देश भर के विभिन्न राज्यों से कुल 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गई। 10 लाख से अधिक यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके हैं। यात्रियों को भेजने वाले और उन्‍हें अपने यहां लेने वाले राज्‍य की सहमति के बाद ही रेलवे द्वारा ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इन 800…

Read More

भारतीय रेलवे ने 642 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई, लगभग 7.90 लाख यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके

विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, विद्यार्थियों और अन्य व्यक्तियों की आवाजाही विशेष रेलगाड़ियों से सुनिश्चित करने के बारे में गृह मंत्रालय का आदेश (ऑर्डर) प्राप्‍त होने के बाद भारतीय रेलवे ने ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया था। 13 मई 2020 तक देश भर के विभिन्न राज्यों से कुल 642 ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनें चलाई गई हैं। लगभग 7.90 लाख यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके हैं। यात्रियों को भेजने वाले राज्‍य और यात्रियों का आगमन स्‍वीकार करने वाले राज्‍य दोनों से ही सहमति मिलने के बाद…

Read More

भारतीय रेलवे ने देश भर में 542 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई, 6.48 लाख यात्रियों ले जाया गया

पलायन करके दूसरे राज्‍यों में गए श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और विभिन्‍न स्‍थानों पर फंसे अन्य व्यक्तियों की स्‍पेशल ट्रेनों से आवाजाही के संबंध में गृह मंत्रालय के आदेश के बाद, भारतीय रेलवे ने “श्रमिक स्पेशल” ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया था। 12 मई 2020 तक, देश भर के विभिन्न राज्यों से कुल 542 “श्रमिक स्पेशल” ट्रेनें चलाई गई, जिसमें से 448 ट्रेनें अपने गंतव्य तक पहुंच गई और 94 ट्रेनें मार्ग में हैं। इन 448 ट्रेनों को विभिन्‍न राज्‍यों आंध्र प्रदेश (1 ट्रेन), बिहार (117 ट्रेन), छत्तीसगढ़ (1 ट्रेन),…

Read More

रेलवे और गृह मंत्रालय ने की श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के परिचालन की समीक्षा

गृह मंत्रालय और रेल मंत्रालय ने श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों के जरिए प्रवासी श्रमिकों की आवाजाही पर आज सुबह एक वीडियो कॉन्‍फ्रेंस आयोजित की। राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रमुख (नोडल) अधिकारियों ने इसमें भाग लिया। वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा की गई एवं उनका निवारण किया गया और इसके साथ ही इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि प्रवासी श्रमिकों को यह आश्वासन दिया जाए कि घर जाने के इच्छुक सभी लोगों की यात्रा के लिए पर्याप्त संख्या में ट्रेनें चलाई जाएंगी। अगले कुछ हफ्तों…

Read More

गृह मंत्रालय की राज्‍यों को हिदायत: ‘श्रमिक स्‍पेशल’ ट्रेनें चलाने में रेलवे के साथ सहयोग करें

HMO (home ministry)

मंत्रिमंडल सचिव ने बसों और ‘श्रमिक स्‍पेशल’ ट्रेनों से जाने वाले श्रमिकों को सभी राज्‍यों और संघ शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान की गई सहायता की समीक्षा करने के लिए 10 मई 2020 को वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिये एक बैठक की अध्‍यक्षता की। इस बैठक के परिणामस्‍वरूप, गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों /संघ शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कहा कि वे पलायन करके आए श्रमिकों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचने के लिए सड़क और रेलवे पटरियों पर चलने से रोकें। इस बात पर जोर दिया गया कि ‘श्रमिक स्‍पेशल’ट्रेनों और…

Read More