कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नाथुला होकर जाने वाले 35 तीर्थयात्रियों का पहला जत्‍था आज सिक्किम में गंगतोक से रवाना हुआ

इस साल की कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नाथुला होकर जाने वाले 35 तीर्थयात्रियों का पहला जत्‍था आज सिक्किम में गंगतोक से रवाना हुआ। हमारे संवाददाता ने बताया है कि राज्‍य के मुख्‍यसचिव एस सी गुप्‍ता ने आज सुबह इन यात्रियों की बस को झंडी दिखाकर रवाना किया।

मानसरोवर यात्रियों को गंगटोक और नाथुला के बीच पड़ने वाले 15 माइल और शेरेथंग इलाके में कुल दो-दो रात बितानी होगी ताकि इन्‍हें मौसम और रास्‍ते की दुर्गमता में सांजस्‍य बनाये रखने में आसानी हो। खराब मौसम, ऊंचाई पर सांस की तकलीफ या अन्‍य किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए सीमा पर तैनात सेना के अधिकारी और स्‍थानीय प्रशासन पूरी तरह तत्‍पर है। लगभग 14 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित नाथुला दर्रे तक बस से सफर करने के बाद कैलाश मानसरोवर यात्रियों का पहला दल आगामी 20 जून को चीन की सीमा में प्रवेश कर जाएगा जहां से आगे की यात्रा की जिम्‍मेदारी चीनी प्रशासन पर होगी। पहले जत्‍थे की मानसरोवर यात्रा कुल 21 दिन में तय की जानी है। इस बार यात्रियों के कुल 10 जत्‍थों को सिक्किम के नाथुला मार्ग से अपनी मानसरोवर यात्रा पूरी करनी है।

Related posts