नागरिकता संशोधन विधेयक-2019 का उद्देश्य अपने मूल देश में प्रताड़ना झेल रहे धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता प्रदान करना है: गृहमंत्री राजनाथ सिंह

Raj Nath Singh in Rajya Sabha

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नागरिकता संशोधन विधेयक-2019 का उद्देश्य बंगलादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में प्रताड़ना झेल रहे धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता प्रदान करना है।

हम सिटिजनशिप अमेन्‍डमेन्‍ट बिल इसलिए लेकर आये हैं ताकि हमारे तीन पड़ोसी देशों के छह अल्‍पसंख्‍यक समुदायों की माइग्रेंट संकटपूर्ण परिस्थितियों का निवारण किया जा सके। ये वैसे लोग हैं जो रिलिजयस परसिकुशन के कारण भारत में शेल्टर लेने के लिए मजबूर हुए हैं।

यह विधेयक नागरिकता अधिनियम-1955 में संशोधन से संबंधित है। गृहमंत्री ने पूर्वोत्तर राज्यों में सुरक्षा स्थिति के संदर्भ में आश्वासन दिया कि भारतीयों के हितों और उनकी सांस्कृतिक पहचान की रक्षा की जाएगी।

इससे पहले इस विधेयक को लेकर, कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष के विरोध के कारण राज्‍य सभा की कार्रवाई दो बार स्थगित की गयी। सदन के नेता अरुण जेटली ने आश्वासन दिया कि विधेयक पर चर्चा के दौरान सभी आशंकाओं का समाधान किया जाएगा।

विपक्षी सदस्यों ने सदन की कार्यवाही एक दिन बढ़ाये जाने पर भी आपत्ति व्यक्त की और आरोप लगाया कि इस पर सबकी राय नहीं ली गयी है।

 

Related posts