तीन दिन का संस्‍कृत भारती विश्‍व सम्‍मेलन नई दिल्‍ली में जारी

भारत की प्राचीनतम भाषा संस्‍कृत में विभिन्‍न सिद्धांतों, विचारों और अनुसंधान-निष्‍कर्षों पर चर्चा के लिए आयोजित तीन दिन का संस्‍कृत भारती विश्‍व सम्‍मेलन नई दिल्‍ली में जारी है।

विश्‍वभर से हजारों प्रतिनिधि और संस्‍कृ‍त प्रेमी अपनी तरह के इस पहले विश्‍व सम्‍मेलन में भाग ले रहे हैं। आकाशवाणी से बातचीत में पौलेंड के स्‍कर्बीमीर रूकिनस्‍ंकी ने कहा कि उन्‍हें यह आयोजन बड़ा दिलचस्‍प लगा। संस्‍कृत को बढ़ावा देने में प्रसार भारती और आकाशवाणी की भूमिका की सराहना करते हुए उन्‍होंने कहा कि ये संगठन भारत की सांस्‍कृतिक विरासत के संरक्षण में एक अहम रोल अदा कर रहे हैं।

एग्‍जीविशन में मैंने अनेक-अनेक प्रकार के स्‍टॉल, जिसमें भारतीय ज्ञान और विज्ञान से संबंधी चीजें एवं शास्‍त्रों के ज्ञान, भाषाओं के ज्ञान के ऊपर है एक पूरा जो कार्यक्रम हो रहा है, वो पूरे दिशा में प्रसारित हो रहा है और अनेक-अनेक लोग आ गये उसको देखने के लिए, प्रसार भारती का भी स्‍टॉल दिखाई दिया है।

Related posts

Leave a Comment