आज की खबर सुर्खियों में – 21 नवंबर आज का अखबार

जम्‍मू में चार आतंकवादियों के मारे जाने के बाद प्रधानमंत्री का बयान- सभी अखबारों ने प्रमुखता से दिया है। जनसत्‍ता का शीर्षक है- नगरोटा मुठभेड़ में ‘बड़े विनाश’ के प्रयास नाकाम। प्रधानमंत्री ने सतर्कता के लिए सुरक्षा बलों को धन्‍यवाद दिया। वहीं नवभारत टाइम्‍स की सुर्खी है- जो 4 आतंकी ढेर हुए, वो 26/11 दोहराने आए थे। गृहमंत्री शाह और एनएसए ने पीएम को दी नापाक मंसूबों की जानकारी।

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों ने फिर से रफ्तार पकड़ने को अधिकांश अखबारों ने अपने पहले पन्‍ने पर स्‍थान दिया है। हरिभूमि लिखता है- कोरोना संक्रमण ने फिर पकड़ी तेजी, 90 लाख के पार पहुंचे मामले, दिल्‍ली में 24 घंटे में 98 लोगों की मौत। नवभारत टाइम्‍स लिखता है- घर-घर जांच, मास्‍क पर कटे खूब चालान, दिल्‍ली-एनसीआर बार्डर पर हुई रैंडम जांच। वहीं, हिन्‍दुस्‍तान ने मुख्‍यमंत्री केजरीवाल के इस बयान को प्रमुखता दी है- कोरोना की तीसरी लहर से उबर रही दिल्‍ली। हरिभूमि ने इसे बॉक्‍स में देते हुए लिखा है- दिल्‍ली में अभी बंद नहीं किये जायेंगे बाजार, कोरोना की थर्ड वेब लाने और मौत के आंकड़े बढ़ाने में प्रदूषण बड़ा कारण।

ग्‍लोबल एम्‍प्‍लॉयबिलिटी रैंकिंग में 15वां स्‍थान पर भारत, आईआईटी दिल्‍ली के छात्र रोजगार पाने में सबसे आगे, इस खबर को दैनिक भास्‍कर के पहले पन्‍ने पर जगह दी है।

बड़े उद्योग शरू कर सकेंगे बैंक, दैनिक जागरण ने इसे मुख पृष्‍ठ पर देते हुए लिखा है- आरबीआई के पैनल की सिफारिश, बैंकिंग ढांचे में व्‍यापक बदलाव की तैयारी।

Related posts

Leave a Comment