महाराष्‍ट्र में मूसलाधार बारिश जारी, राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल की 12 टीमें राहत और बचाव कार्यों में मदद के लिए लगाई गई

महाराष्‍ट्र में मूसलाधार बारिश जारी है। रत्‍नागिरी, कोल्‍हापुर, सिंधूदुर्ग, रायगढ और पुणे जिले विशेष रूप से प्रभावित हुए हैं। यहां कई स्‍थानों पर पानी भर गया है। नदियों के तटवर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भारी दिक्‍कत हो रही है।

रत्‍नागिरी में इस महीने अब तक एक हजार 781 दशमलव सात मिलीमीटर वर्षा हुई है, जो पिछले 40 वर्षों का रिकार्ड है। कोल्‍हापुर में पंच गंगा नदी खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल की 12 टीमें राहत और बचाव कार्यों में मदद के लिए लगाई गई हैं। ये टीमें राज्‍य के स्‍थानीय अधिकारियों और राहत टीमों की मदद कर रहे हैं।

रत्‍नागिरी के सर्वाधिक प्रभावित खेड और चिपलुन इलाकों में भारतीय नौसेना भी राहत कार्यों में जुट गई है। खेड में वर्षा का पानी एक कोविड सेंटर में प्रवेश कर गया है, जिसकी वजह से वहां के 35 मरीजों को दूसरे अस्‍पतालों में ले जाना पडा है।

भारी वर्षा के कारण सडक और रेल यातायात भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। बदलापुर से खोपोली सेक्‍शन तथा कोंकण रेलवे की सेवाएं रद्द हैं।

मुम्‍बई, ठाणे, पालघर और नवी मुम्‍बई में भी मूसलाधार बारिश हो रही है। कई स्‍थानों पर पानी भर गया है, पेड गिर गए हैं और भूस्‍खलन की घटनाएं हुई हैं। मुम्‍बई की मी‍ठी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

Related Posts