केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने पंजाब में हरिके बैराज से निकलने वाले फिरोजपुर फीडर के पुनर्वास पर बैठक की अध्यक्षता की

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने पंजाब में हरिके बैराज से निकलने वाले फिरोजपुर फीडर के पुनर्वास पर आज नई दिल्ली में एक बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के दौरान फिरोजपुर फीडर के माध्यम से राजस्थान में सिंचाई के लिए पानी की आपूर्ति से संबंधित कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई, जिसमें संसद सदस्य निहाल चंद, विधायक जयवीर सिंह बराड़, केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के अध्यक्ष कुशविंदर वोहरा, राजस्थान के गंगानगर और हनुमानगढ़ क्षेत्र के किसानों के साथ केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी), राजस्थान के जल संसाधन विभाग और पंजाब के सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने भाग लिया।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा फिरोजपुर फीडर (51 किलोमीटर लंबी) के पुनर्वास और रीलाइनिंग के लिए केंद्रीय जल आयोग को सौंपी गई प्री-फिजिबिलिटी रिपोर्ट को स्वीकृति दे दी गई है। यह नहर बीकानेर नहर को पानी की आपूर्ति करती है जिससे राजस्थान के गंगानगर और हनुमानगढ़ जिले को लाभ होता है। पंजाब और राजस्थान के अधिकारियों को जल्द से जल्द डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट केंद्रीय जल आयोग को सौंपने के निर्देश दिए गए। माननीय मंत्री महोदय ने केंद्रीय जल आयोग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे जल्द से जल्द प्रस्तुत किए गए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) की जांच करें और बाद में जल संसाधन (डीओडब्ल्यूआर), नदी विकास (आरडी) और गंगा संरक्षण (जीआर) विभाग की सलाहकार समिति द्वारा अनुमोदन प्राप्त करें। उपरोक्त के अलावा, बैठक में पानी और सिंचाई से संबंधित अन्य मुद्दों पर भी चर्चा की गई।