जानें आज का राशिफल सभी राशियों का 14 जून 2021, सोमवार

मेष राशिफल: व्यवसाय में सफलता प्राप्त होगी। भावुकता अधिक रहेगी। विद्यार्थी आज अभ्यास और कॅरियर सम्बंधित विषयों में सफलता प्राप्त कर सकेंगे। घर के वातावरण में सुख-शांति बनी रहेगी।

वृषभ राशिफल: पारिवारिक शांति बनाए रखने के लिए निरर्थक वाद-विवाद न करें। माता का स्वास्थ्य खराब रहेगा। धन और प्रतिष्ठा में हानि होने की संभावना है। मध्याहन के बाद स्वभाव में भावुकता बढ़ सकती है।

मिथुन राशिफल: आज मित्रों और प्रियपात्र के साथ भेंट होगी। छोटे से प्रवास का आयोजन हो सकता है। भाईयों के साथ संबंधो में निकटता आएगी। मध्याहन के बाद अरुचिकर घटनाओं से मन अस्वस्थ होगा।

कर्क राशिफल: वैचारिक स्थिरता के साथ, हाथ में आए हुए कार्यों को पूर्ण कर पाएंगे। मान-सम्मान प्राप्त होगा। क्रोध के कारण आज बने बनाए काम बिगड़ सकते हैं। नकारात्मक विचार मन में न आने दें। खान-पान में भी संयम बरतें।

सिंह राशिफल: आज का दिन शुभफलदायी है। दूसरों के प्रति आकर्षित होंगे। नए कार्य का शुभारंभ करने के लिए समय अनुकूल है। परिजनों के साथ समय आनंदपूर्वक बीतेगा। धार्मिक कार्यों में खर्च होगा।

कन्या राशिफल: मेहनत का फल मिलेगा। मानसिक रूप से एकाग्रता कम रहेगी। धन सम्बंधित लेन-देन में ध्यान रखें। कम समय में अधिक लाभ पाने के विचार में आप फंस सकते हैं। कोर्ट-कचहरी के विषय में न पड़ें।

तुला राशिफल: व्यवसायिक और आर्थिक रूप से लाभ होगा। धन खर्च हो सकता है। घर और संतान सम्बंधी शुभ समाचार मिलेंगे। पुराने व बचपन के मित्रों से भेंट के कारण मन में आनंद छाया रहेगा। नए मित्र भी बन सकते हैं।

वृश्चिक राशिफल: दोस्तों के साथ मेलजोल बढेगा। धन लाभ की भी संभावना के बीच आज का दिन लाभदायी रहेगा। व्यवसायिक क्षेत्र में उच्च अधिकारियों की कृपादृष्टि से आपकी प्रगति का मार्ग प्रशस्त होगा। व्यापार में आय बढ़ने और उगाही की वसूली की संभावना है।

धनु राशिफल: आर्थिक दृष्टि से लाभ की संभावना के बीच जीवन साथी के साथ तालमेल स्थापित होगा। उच्च अधिकारियों के साथ वाणी और व्यवहार में संभलकर चलें। शारीरिक रूप से अस्वस्थता और मानसिक चिंता बनी रहेगी। व्यापार में विघ्न की संभावना है।

मकर राशिफल: अनजाने में कोई बड़ी गलती हो सकती है। सेहत का ध्यान रखें। सरकार विरोधी प्रवृत्तियों से दूर रहें। मानसिक रूप से व्यग्रता बनी रहेगी। परिजनों के साथ कलह सम्भव हैं। नकारात्मक विचारों से दूर रहें।

कुंभ राशिफल: आज मध्याहन के बाद आपको प्रतिकूलता का अहसास होगा। धन लाभ भी आपकी चिंता को कम कर देगा। समय से पहले आप का कोई भी काम न बनेगा।अपनी बारी का इंतजार करे।भागीदारों के साथ सम्बंध अच्छे रहेंगे। आकस्मिक खर्च हो सकता है।

मीन राशिफल: आज दृढ़ मनोबल और आत्मविश्वास के साथ प्रत्येक कार्य को सफल बनाएंगे। गृहस्थ जीवन में सुख और शांति बनी रहेगी।संतों के दर्शन से लाभ होगा। स्वभाव में उग्रता रहेगी। प्रवास या पर्यटन का योग हैं।

जाने कैसा रहेगा आज का मौसम 14 जून 2021

राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में आसमान में बादल छाए रहेंगे। न्यूनतम तापमान 27 डिग्री दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

मुम्‍बई में बादल छाए रहेंगे और बारिश होने की संभावना। यहां अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

चेन्नई में बादल छाए रहेंगे। अधिकतम 35 डिग्री तक जा सकता है। न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

कोलकाता में बादल छाए रहेंगे और बारिश होने की संभावना। अधिकतम 31 डिग्री तक जा सकता है। न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

चंडीगढ़ में बादल छाए रहेंगे। यहां अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

जयपुर में आसमान साफ रहेगा। यहां अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

लखनऊ में बादल छाए रहेंगे और बारिश होने की संभावना। यहां अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

पटना में बादल छाए रहेंगे और बारिश होने की संभावना। यहां अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

भोपाल में बादल छाए रहेंगे और बारिश होने की संभावना। यहां अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

उत्‍तर प्रदेश के पूर्वी भागों में मानसून की पहली बारिश हुई

उत्‍तर प्रदेश के पूर्वी भागों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगमन के साथ राज्‍य में मॉनसून की पहली बारिश हुई। गोरखपुर, वाराणसी, जौनपुर, अयोध्‍या, गाजीपुर, बलरामपुर, सोनभद्र सहित पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में आज सुबह से ही रूक- रूक कर बारिश हो रही है।

मौसम विभाग ने आज जारी अपने ताजा पूर्वानुमान में कहा कि मॉनसून पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के अधिकांश भागों के साथ-साथ पश्चिमी हिस्‍सों में भी कुछ स्‍थानों पर पहुंच गया है। अगले 48 घंटों में उत्‍तर प्रदेश के बाकी हिस्‍सों में भी मॉनसून के आगमन की संभावना है।

ड्रैगन बोट फेस्टिवल 2021: Google Doodle

इस साल, 14 जून चंद्र कैलेंडर के पांचवें महीने के पांचवें दिन को चिह्नित करता है-वार्षिक ड्रैगन बोट फेस्टिवल का दिन, या डुआनवुजी। आज का डूडल इस प्राचीन परंपरा का जश्न मनाता है, जिसका इतिहास 2,000 साल से अधिक पुराना है।

ड्रैगन बोट फेस्टिवल एक उच्च-उत्साही परंपरा है जहां प्रतियोगी लंबी, कंपन से पेंट की गई लंबी लकड़ी की नावों को नदियों में डालते हैं और अंत तक दौड़ लगाते हैं। ड्रैगन बोट नाविकों की टीम एक फिनिश लाइन की ओर उतनी ही तेजी से दौड़ती है, जबकि टीम का एक सदस्य जहाज के सामने बैठता है और अपनी गति बनाए रखने और ऊर्जा को ऊंचा रखने के लिए ड्रम बजाता है। दर्शक और रेसर समान रूप से ज़ोंग्ज़ी का आनंद लेते हैं, एक टेट्राहेड्रोन के आकार का चिपचिपा चावल ईख या बांस के डंठल में लिपटे हुए माना जाता है कि यह सौभाग्य लाता है। कुछ संस्कृतियों में, मौज-मस्ती करने वाले दिन में एक और दोस्ताना प्रतियोगिता जोड़ते हैं-अंडे का संतुलन। अंडे को खड़ा रखने के लिए दोपहर को सबसे अच्छा समय कहा जाता है!

आज प्रतिस्पर्धा करने वाले सभी लोगों को शुभकामनाएँ और हैप्पी ड्रैगन बोट फेस्टिवल!

न्यायमूर्ति संजय यादव ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली

उत्‍तर प्रदेश में न्‍यायमूर्ति संजय यादव ने आज इलाहाबाद उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश के रूप में शपथ ली। राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्‍हें लखनऊ के राजभवन में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, कानून मंत्री बृजेश पाठक, राज्‍य के मुख्‍य सचिव आर. के. तिवारी, राज्‍यपाल के अपर मुख्‍य सचिव महेश कुमार गुप्‍ता, मुख्‍य न्‍यायाधीश के परिवारजन, उच्‍च न्‍यायालय के वरिष्‍ठ न्‍यायाधीश, रजिस्‍ट्रार तथा अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इजरायल की संसद-नेसेट में आज नई सरकार के लिए मतदान

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू का 12 वर्ष का कार्यकाल आज समाप्‍त होने की पूरी संभावना है, क्‍योंकि इजरायल की संसद-नेसेट में आज नई सरकार के लिए मतदान होगा। इस मतदान के बाद नेतन्‍याहू का कार्यकाल समाप्‍त हो जाएगा। राजनीतिक गतिरोध उत्‍पन्‍न होने की स्थिति में दो वर्ष से भी कम समय में पांचवीं बार चुनाव कराना होगा।

इस महीने के शुरू में आठ दलों का एक गठबंधन बनाया गया था, जिसका नेतृत्‍व मध्‍यमार्गीय याइर लैपिड और प्रखर राष्‍ट्रवादी नफटाली बैनेट कर रहे हैं। नफटाली बैनेट पूर्व रक्षा मंत्री हैं और वे नई सरकार गठित होने पर दो वर्ष के लिए प्रधानमंत्री बनेंगे। उसके बाद याइर लैपिड देश की बागडोर संभालेंगे।

71 वर्षीय नेतन्‍याहू भ्रष्‍टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं। इस वर्ष मार्च में हुए चुनाव के बाद किसी भी दल को स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं मिला था।

इजरायल की संसद का आज का यह महत्‍वपूर्ण अधिवेशन भारतीय समय के अनुसार शाम साढे छह बजे शुरू होगा।

रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा 1734 टैंकरों से 15 राज्यों में 30000 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति की

भारतीय रेल सभी बाधाओं को पार करते हुए तथा नए समाधान निकाल कर देश के विभिन्न राज्यों में तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंचाना जारी रखे हुए है।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने देश की सेवा में 30000 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचा कर मील का पत्थर पार किया है। अभी तक देश के विभिन्न राज्यों में 1734 से अधिक टैंकरों में 30182 मीट्रिक टन से अधिक तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंचाई गई है। 421 ऑक्सीजन एक्सप्रेस गाड़ियों ने अपनी यात्रा पूरी कर विभिन्न राज्यों को सहायता पहुंचाई है।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने देश के दक्षिणी राज्यों में 15000 एमटी से ज्यादा तरल मेडिकल ऑक्सीजन की डिलीवरी की है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा देश के दक्षिणी राज्यों आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु को क्रमशः 3600, 3700 और 4900 एमटी से अधिक एलएमओ पहुंचाई गई है। जारी होने तक 2 ऑक्सीजन एक्सप्रेस गाड़ियां 10 टैंकरों में 177 एमटी से अधिक एलएमओ लेकर चल रही हैं। 

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने 50 दिन पहले 24 अप्रैल को महाराष्ट्र में 126 एमटी तरल मेडिकल ऑक्सीजन की डिलीवरी करने के साथ अपना काम प्रारंभ किया था।  

ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा 15 राज्यों- उत्तराखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, हरियाणा, तेलंगाना, पंजाब, केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड और असम को ऑक्सीजन सहायता पहुंचाई गई है।

महाराष्ट्र में 614 एमटी ऑक्सीजन, उत्तर प्रदेश में लगभग 3797, मध्य प्रदेश में 656 एमटी, दिल्ली में 5722 एमटी,  हरियाणा में 2354 एमटी, राजस्थान में 98 एमटी, कर्नाटक में 3782 एमटी, उत्तराखंड में 320 एमटी, तमिलनाडु में 4941 एमटी, आंध्र प्रदेश में 3664 एमटी, पंजाब में 225 एमटी, केरल में 513 एमटी, तेलंगाना में 2972 एमटी, झारखंड में 38 एमटी और असम में 480 एमटी ऑक्सीजन पहुंचाई गई है।

अब तक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने देश भर के 15 राज्यों में लगभग 39 नगरों /शहरों में एलएमओ पहुंचाई है। इन शहरों में उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणसी, कानपुर, बरेली, गोरखपुर और आगरा, मध्य प्रदेश में सागर, जबलपुर, कटनी और भोपाल, महाराष्ट्र में नागपुर, नासिक, पुणे, मुंबई और सोलापुर, तेलंगाना में हैदराबाद, हरियाणा में फरीदाबाद और गुरुग्राम, दिल्ली में तुगलकाबाद, दिल्ली कैंट और ओखला, राजस्थान में कोटा और कनकपारा, कर्नाटक में बेंगलुरु, उत्तराखंड में देहरादून, आंध्र प्रदेश में नेल्लोर, गुंटूर, तड़ीपत्री और विशाखापत्तनम, केरल में एर्नाकुलम, तमिलनाडु में तिरुवल्लूर, चेन्नई, तूतीकोरिन, कोयंबटूर और मदुरै, पंजाब में भटिंडा और फिल्लौर, असम में कामरूप और झारखंड में रांची शामिल हैं।

रेलवे ने ऑक्सीजन सप्लाई स्थानों के साथ विभिन्न मार्गों की मैपिंग की है और राज्यों की बढ़ती हुई आवश्यकता के अनुसार अपने को तैयार ऱखा है। भारतीय रेल को एलएमओ लाने के लिए टैंकर राज्य प्रदान करते हैं।

पूरे देश से जटिल परिचालन मार्ग नियोजन परिदृश्य में भारतीय रेल ने पश्चिम में हापा, बड़ौदा मुंदड़ा, पूर्व में राउरकेला, दुर्गापुर, टाटा नगर, अंगुल से ऑक्सीजन लेकर उत्तराखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, हरियाणा, तेलंगाना, पंजाब, केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश तथा असम को ऑक्सीजन की डिलीवरी की है।

ऑक्सीजन सहायता तेज गति से पहुंचाना सुनिश्चित करने के लिए रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस माल गाड़ी चलाने में नए और बेमिसाल मानक स्थापित कर रही है। लंबी दूरी के अधिकतर मामलों में माल गाड़ी की औसत गति 55 किलोमीटर से अधिक रही है। उच्च प्राथमिकता के ग्रीन कॉरिडोर में आपात स्थिति  को ध्यान में रखते हुए विभिन्न मंडलों के परिचालन दल अत्यधिक चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में काम कर रहे हैं ताकि कम से कम संभव समय में ऑक्सीजन पहुंचाई जा सके। विभिन्न सेक्शनों में कर्मियों के बदलाव के लिए तकनीकी ठहराव (स्टॉपेज) को घटाकर 1 मिनट कर दिया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में लॉकडाउन प्रतिबंधों में चरणबद्ध रूप से और छूट देने की घोषणा की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में लॉकडाउन प्रतिबंधों में चरणबद्ध रूप से और छूट देने की घोषणा की है। नए दिशा-निर्देशों के तहत अब सभी बाजार रोज खुलेंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि कल से 50 प्रतिशत की क्षमता के साथ रेस्त्रां खुल सकेंगे। सभी बाजार और मॉल अब सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक खुलेंगे।

धार्मिक स्थल खुलेंगे लेकिन श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं होगी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने घोषणा की कि साप्ताहिक बाजार खुलेंगे लेकिन एक ज़ोन में एक ही बाजार खोलने की अनुमति होगी। सार्वजनिक स्थानों जैसे बैंक्वेट हाल और होटलों में शादी के आयोजन की अनुमति नहीं होगी। शादी-विवाह का आयोजन घर पर हो सकेगा और इसमें अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की ही अनुमति होगी। अंतिम संस्कार में भी 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकेंगे। ऑटो, ई-रिक्शा और टैक्सी में सुरक्षित दूरी का पालन करते हुए दो सवारियों के ही बैठने की अनुमति होगी। श्री केजरीवाल ने कहा कि स्कूल, कॉलेज, सिनेमाहाल और स्विमिंग पूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे।

सोशल पॉलिटिकल, स्‍पोर्ट्स, इंटरटेनमेंट, एकेडमिक, कलचरल, रिलीजियस, फेस्‍टीवल्‍स इससे रिलेटेड जितनी गैदरिंग्‍स हैं कोई भी गैदरिंग अलाउड नहीं होंगी। स्‍टेडियम, स्‍पोर्ट्स कॉम्‍प्‍लेक्‍स, एंटरटेनमेंट पार्क्‍स, एम्‍यूजमेंट पार्क्‍स, वाटर पार्क्‍स बंद रहेंगे। बिजनेस टू बिजनेस एक्‍जीबिशन्‍स, स्‍पाज, जिमनेजियम, योगा इंस्‍टीट्यूट और पब्लिक पार्क्‍स और गार्डन्‍स बंद रहेंगे। प्राइवेट आफिसेज जितने हैं वो 50 पर्सेंट कैपेसिटी पर काम करेंगे। कल से पूरी तरह से सारी दुकानें खुल सकती हैं!

शिक्षा मंत्रालय ने समग्र शिक्षा योजना के तहत राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को 7,622 करोड रुपये जारी किए

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 7,622 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। यह राशि समग्र शिक्षा योजना के अंतर्गत कई शैक्षिक पहल को जारी रखने के लिए दी गई है।

एक ट्वीट में शिक्षा मंत्री पोखरियाल ने कहा कि इस राशि का उपयोग विद्यार्थियों को नि:शुल्‍क पुस्तकें और वर्दी उपलब्‍ध कराने के लिए किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस राशि का इस्तेमाल अध्यापकों के वेतन, प्रशिक्षण, व्यावसायिक शिक्षा और डिजिटल पहल के लिए भी किया जाएगा।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अगले पांच वर्ष में रक्षा नवाचार के लिए चार सौ 98 करोड रुपये की बजटीय सहायता को मंजूरी दी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अगले पांच वर्षों के लिए रक्षा उत्कृष्टता में नवाचार (आई-डीईएक्स)- रक्षा नवाचार संगठन (डीआईओ) के लिए नवाचार हेतु 498.8 करोड़ रुपये की बजटीय सहायता को मंजूरी दे दी है। बजटीय सहायता से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ को बढ़ावा मिलेगा क्योंकि आई-डीईएक्स- डीआईओ का देश की रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता और स्वदेशीकरण का प्राथमिक उद्देश्य है।

रक्षा उत्पादन विभाग (डीडीपी) द्वारा आई-डीईएक्स के निर्माण और डीआईओ की स्थापना का उद्देश्य एमएसएमई, स्टार्ट-अप्स, व्यक्तिगत नवोन्मेषकों, अनुसंधान एवं विकास संस्थानों और शिक्षाजगत समेत उद्योगों को शामिल करके रक्षा और एयरोस्पेस में नवाचार और प्रौद्योगिकी विकास को बढ़ावा देने के लिए एक ईको सिस्‍टम का निर्माण करना और उन्हें अनुसंधान और विकास करने के लिए अनुदान/वित्तपोषण और अन्य सहायता प्रदान करना है जिसके भारतीय रक्षा और एयरोस्पेस जरूरतों हेतु भविष्य में अपना लिए जाने की अच्छी संभावना है।

अगले पांच वर्षों के लिए 498.8 करोड़ रुपये की बजटीय सहायता वाली इस योजना का उद्देश्य डीआईओ फ्रेमवर्क के तहत लगभग 300 स्टार्ट-अप्स/एमएसएमई/व्यक्तिगत नवोन्मेषकों और 20 साझेदार इनक्यूबेटर को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। यह रक्षा जरूरतों के बारे में भारतीय नवाचार पारितंत्र में जागरूकता बढ़ाने और इसके विपरीत भारतीय रक्षा प्रतिष्ठान में उनकी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अभिनव समाधान देने की उनकी क्षमता के प्रति जागरूकता पैदा करने में सहायता करेगा।

डीआईओ अपनी टीम के साथ नवोन्मेषकों के लिए चैनल बनाने में सक्षम होगा ताकि भारतीय रक्षा उत्पादन उद्योग के साथ जुड़ सकें और उनके साथ बातचीत की जा सके। समूह द्वारा लंबे समय में महसूस किया जाने वाला प्रभाव एक संस्कृति की स्थापना है, जहां भारतीय सेना द्वारा नवोन्मेषकों के प्रयास को सूचीबद्ध करना आम और अक्सर होता हो।

इस योजना का उद्देश्य भारतीय रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्र के लिए नई, स्वदेशी और अभिनव प्रौद्योगिकियों के तेजी से विकास को सुगम बनाना है ताकि कम समय सीमा में उनकी जरूरतों को पूरा किया जा सके; रक्षा और एयरोस्पेस के लिए सह-निर्माण को प्रोत्साहित करने के लिए अभिनव स्टार्ट-अप्स के साथ संबंध स्थापित करने की संस्कृति का विकास करना; रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्र के भीतर प्रौद्योगिकी सह-निर्माण और सह-नवाचार की संस्कृति को सशक्त बनाना और स्टार्ट-अप के बीच नवाचार को बढ़ावा देकर उन्हें इस ईको सिस्‍टम का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित करना है।

डीडीपी पार्टनर इनक्यूबेटर (पीआई) के रूप में आई-डीईएक्स नेटवर्क की स्थापना और प्रबंधन के लिए डीआईओ को धन जारी करेगा; यह रक्षा और एयरोस्पेस जरूरतों के बारे में विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के पार्टनर इनक्यूबेटर सहित पार्टनर इनक्यूबेटर के माध्यम से एमएसएमई के नवोन्मेषकों/स्टार्ट-अप/प्रौद्योगिकी केंद्रों के साथ संवाद करेगा; यह संभावित प्रौद्योगिकियों और संस्थाओं को शॉर्टलिस्ट करने और रक्षा और एयरोस्पेस सेटअप पर उनकी उपयोगिता और प्रभाव के संदर्भ में नवोन्मेषकों/स्टार्ट-अप्स द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों और उत्पादों का मूल्यांकन करने के लिए विभिन्न चुनौतियों/हैकथॉन का आयोजन करेगा।

अन्य गतिविधियों में पायलटों को सक्षम और वित्तपोषित करने के उद्देश्य हेतु निर्धारित नवाचार निधियों का उपयोग करके पायलटों को सक्षम बनाना और उनका वित्तपोषण करना; प्रमुख नवीन प्रौद्योगिकियों के बारे में सशस्त्र बलों के शीर्ष नेतृत्व के साथ बातचीत करना और उपयुक्त सहायता के साथ रक्षा प्रतिष्ठान में उनको अपनाए जाने को प्रोत्साहित करना; सफलतापूर्वक संचालित प्रौद्योगिकियों के लिए विनिर्माण सुविधाओं में स्केल-अप, स्वदेशीकरण तथा एकीकरण को सुगम बनाना और पूरे देश में आउटरीच गतिविधियों का आयोजन करना शामिल है।